21 सितम्बर से शुरू होने वाले है नवरात्रे, माता रानी को खुश करने के लिए रखे इन बातों का ध्यान और भूल कर भी न करे ये काम !

ये तो सब जानते है, कि माता रानी के नवरात्रे इसी महीने शुरू होने वाले है. जी हां इस महीने की 21 तारीख यानि इक्कीस सितम्बर को माता रानी के नवरात्रे शुरू होने वाले है. जिसके चलते बहुत से लोग माता रानी को अपने घर बुलाने का आगमन भी कर चुके है. बरहलाल माता रानी के दिन बहुत खास दिन होते है. इसलिए इन दिनों में कुछ खास बातों का भी ध्यान रखना पड़ता है, ताकि माता की असीम कृपा प्राप्त हो सके. इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि आखिर ऐसी कौन सी बातें या कौन से काम है, जो आपको नवरात्रि के दिनों में नहीं करने चाहिए.

सबसे पहले तो हम आपको बता दे कि जो लोग मंत्रो का जाप अच्छी तरह से करना जानते है, वो नवरात्रि के दिनों में मंत्रो का जाप कर सकते है, क्यूकि इन दिनों में माता रानी के व्रत रखने और साथ ही मंत्रो का जाप करने से एक अलग ही शक्ति का अनुभव होता है. इसके इलावा इससे पूरा साल आपके अंदर नयी शक्ति और नयी ऊर्जा का संचार कायम रहता है. इसके साथ ही आपका भाग्य भी प्रबल हो जाता है. जी हां यानि व्रत रखने और मंत्रो का जाप करने से आप पूरा साल सुख और सफलता का अनुभव करते है.

आपको बता दे कि कुछ लोग तो ऐसे है, जो इन नौ दिनों में तंत्र साधना और महाविद्या से जुडी साधना भी करते है, क्यूकि इससे उन्हें एक अलग प्रकार की शक्ति और सफलता मिलती है. दरअसल ऐसा माना जाता है कि ये नौ दिन काफी प्रबल और शक्तिशाली दिन होते है और ऐसे में हर किसी को इसका भरपूर लाभ उठाना चाहिए. मगर इसके साथ ही इन दिनों में आपको कुछ सावधानी बरतने की भी जरूरत है. जी हां यदि आप माता रानी के व्रत रखते है, मंत्रो का भी जाप करते है और पूजा करते है, तो आपके लिए ये बातें जानना बहुत जरुरी है.

गौरतलब है कि बहुत से लोग ऐसे है जो नवरात्रि के सभी व्रत नहीं रख पाते और ऐसे में उनके मन में एक निराशा सी भर जाती है. इसलिए हम आपको बता दे कि अगर आप सारे व्रत नहीं रख सकते तो नवरात्रे के पहले और आखिरी दिन में आप माता रानी का व्रत रख सकते है और जो लोग सभी व्रत रखने की क्षमता रखते है, उन्हें सभी व्रत जरूर रखने चाहिए. इसके इलावा नवरात्रि के दिनों में बाल, नाख़ून और दाढ़ी आदि चीजे नहीं कटवानी चाहिए. हालांकि बहुत से लोग ऐसे है जिन्हे किसी कारणवश बाल कटवाने पड़ते है या दाढ़ी भी कटवानी पड़ती है, तो ऐसे में आप माता के सामने क्षमा मांग कर चार लौंग और चार कपूर जला सकते है.

जी हां इससे आपके द्वारा किये गए कार्य के दुष्प्रभाव खत्म हो जाते है. बता दे कि चार कपूर और लौंग आपको एक साथ ही जलाने है, लेकिन बिना किसी मज़बूरी के अगर आप ये कार्य करेंगे तो माता रानी भी आपको क्षमा नहीं करेंगी. इसलिए अगर कोई मज़बूरी हो तो ही आप ये उपाय करे. इसके साथ ही बहुत से लोग इस बात से अनजान है कि अगर वे अपने घर में कलश या अखंड ज्योत की स्थापना करते है, तो उन्हें घर खाली नहीं छोड़ना चाहिए. जी हां ऐसे में किसी न किसी व्यक्ति का घर में होना बेहद जरुरी है.

बता दे कि नवरात्रि के नौ दिन आपको नॉन वेज, प्याज, लहसुन आदि सब चीजों का भी त्याग करना होगा. इसके इलावा बहुत कम लोग ये बात जानते है, कि इन नौ दिनों में आपको निम्बू भी नहीं काटना चाहिए. वो इसलिए क्यूकि निम्बू काटने से इसके बुरे प्रभाव पड़ते है और इससे जीवन में परेशानियां भी बढ़ सकती है. इसके इलावा इन नौ दिनों में भूल से भी किसी का दिल न दुखाएं और जो नौ साल से छोटी कन्यायें है, उन्हें कुछ न कुछ खाने के लिए जरूर दे.

गौरतलब है, कि नवरात्रि शुरू होने से पहले आपको अपने घर के मंदिर को अच्छी तरह से साफ़ कर लेना चाहिए और पूजा की शुरुआत भगवान् गणेश से ही करनी चाहिए. आपको बता दे कि जो लोग व्रत के दौरान जमीन पर सोते है, उन्हें भी कई तरह के फायदे होते है. हालांकि आज के समय में बहुत कम लोग ऐसे होंगे कि जो जमीन पर सोना पसंद करते है. फिर भी अगर मुमकिन हो तो जमीन पर सोने की कोशिश जरूर करे और आप चाहे तो चटाई बिछा कर सो सकते है.

बरहलाल नवरात्रि आने को है और माता रानी की कृपा होने को है, इसलिए नवरात्रि के दिनों में इन बातो का ध्यान रखे और माता रानी की विशेष कृपा पाए.