नवरात्रि में तकिए के नीचे रखे एक रूपये का सिक्का, माता रानी का मिलेगा ऐसा आशीर्वाद कि हो जायेंगे मालामाल

यूँ तो नवरात्रि के दिनों में इंसान को अपनी किस्मत बदलने के लिए किसी खास चमत्कार की जरूरत नहीं क्यूकि इन दिनों में माता रानी का आशीर्वाद ही इंसान के लिए काफी होता है. मगर फिर भी शास्त्रों के अनुसार ऐसा कहा जाता है कि यदि हम देवी देवताओ के खास दिनों में कुछ खास उपाय करते है, तो इसका हमें बेहद अच्छा फल मिलता है. इसलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे उपाय लाये है, जो यदि आप नवरात्रि के दिनों में करेंगे तो आपको इसका शुभ फल ही मिलेगा. जी हां इसके इलावा ये उपाय करने से आपको अपने जीवन की हर परेशानी से भी छुटकारा मिल जाएगा.

वैसे आपको बता दे कि इसमें आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है, बस एक रूपये का सिक्का लेना है और यहाँ एक रूपये के सिक्के के साथ ही हम चावल की भी बात करेंगे. जी हां हिन्दू धर्म में चावल का बेहद महत्व है और इसे देवी देवताओ का प्रिय भोज भी माना जाता है. इसके बाद अगर उपाय की बात करे तो सबसे पहले उपाय के अनुसार नवरात्रि के शुभ शुक्रवार को रात को दस बजे एक कटोरी चावल ले लीजिये. इसके बाद एक चौंकी पर कलश रख लीजिये और कलश पर केसर से स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं.

इसके साथ ही इस बात का ध्यान रखे कि स्वास्तिक का चिन्ह कटा हुआ न बनाएं और जो कलश लिया है उसमे शुद्ध जल भी भरना है. इसके इलावा कलश में चावल, दुर्वाह और एक रूपये का सिक्का डाल दे. इसके बाद एक प्लेट में जो कटोरी में चावल लिए थे, वो डाल कर उसके ऊपर कलश की स्थापना करे और साथ ही उसके ऊपर श्रीयंत्र भी स्थापित कर दीजिये. इसके इलावा अगर आपके पास श्रीयंत्र नहीं है तो बिना कटा हुआ स्वास्तिक बना कर उसे श्रीयंत्र मान लीजिये, क्यूकि स्वास्तिक को भी श्रीयंत्र का दूसरा रूप ही माना जाता है.

इसके बाद इसके पास चौमुखी दीपक जला कर कुमकुम और चावल से इसका पूजन करे. इसके बाद लक्ष्मी चालीसा का पाठ करे और दस मिनट तक माँ लक्ष्मी का ध्यान करने के बाद जो भी मनोकामना दिल में हो वो माता लक्ष्मी के सामने बोल दीजिये. जी हां इससे आप पर माता रानी की कृपा जरूर होगी. इसके इलावा बता दे कि जो दीपक आपको जलाना है वो गाय के घी से ही जलाना है. इसके साथ ही एक कटोरी में थोड़ा सा प्रसाद भी रख दीजिये और आप चाहे तो मिश्री का प्रसाद भी रख सकते है.

गौरतलब है कि अगले उपाय के अनुसार एक रूपये या पांच रूपये का सिक्का ले लीजिये और इसे 43 दिन तक अपने तकिये के नीचे रख कर आराम से सो जाईये, लेकिन इस बात का ध्यान रखे कि आपको इन 43 दिनों में एक ही तरह के सिक्के का इस्तेमाल करना है. यानि अगर आपने पहले दिन पांच रूपये का सिक्का लिया है तो आपको बाकी दिन भी पांच का सिक्का ही लेना पड़ेगा और अगर आपने एक का सिक्का लिया है तो बाकी दिन भी एक का सिक्का ही ले. इसके बाद सुबह उठ कर अपने घर के पास यदि आपको कोई गरीब दिखता है तो उसे ये सिक्का दे दीजिये और आप चाहे तो जमादार को भी ये सिक्का दे सकते है.

बता दे कि यदि 43 दिन तक लगातार आप ये उपाय करेंगे तो इससे आपके घर में धन का आगमन होना शुरू हो जाएगा और इससे आपकी किस्मत के दरवाजे भी आसानी से खुल जायेंगे. इसके साथ ही इस बात का ध्यान रखे कि 43 दिन तक आपको इस उपाय के बारे किसी को नहीं बताना है, यानि किसी के सामने इसकी चर्चा नहीं करनी है और न ही इस दान के बारे में सोचना है. बता दे कि नवरात्रि के दिनों में कभी भी दक्षिण दिशा में मुँह करके खाना नहीं खाना चाहिए. इससे घर की सुख समृद्धि चली जाती है.

बरहलाल नवरात्रि के दिनों में अगर आप माता रानी के आशीर्वाद के साथ साथ अपनी मनोकामनाएं भी पूरी करना चाहते है, तो इन उपायों का इस्तेमाल जरूर करे और यकीन मानिये ये उपाय आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित होंगे.