इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाली लड़की कैसे बनी कॉलगर्ल, पुलिस ने खोले और भी बड़े रहस्य

जिस्म का बाज़ार किस कदर देश में फैलता जा रहा है की अच्छे भले लोग इसकी आगोश में समाते जा रहे है। कुछ तो मजबूरी और गरीबी की वजह से इस दलदल में फंस जाते है मगर उसका क्या जो इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद इस नर्क में जा पहुंची। आखिर उस लड़की की क्या मजबूरी रही होगी या कौन सी जरूरत आन पड़ी जो इत्ती अच्छी पढ़ाई करने के बाद भी इस बुरी जगह में जा पहुंची। बता दे की गुड़गांव क पढ़ी-लिखी युवती जिस्म्फ़रोशी के धंधे में जाने कहाँ से आ पड़ी और इसका खुलासा तब हुआ जब वो पुलिस के हत्थे लगी और तब सामने आयी वो काली सच्चाई। पुलिस के मुताबिक इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुकी युवती अपने शौक पूरे करने के लिए जिस्मफरोशी की राह पर चल रही थी।

बता दे की श्यामपुर क्षेत्र के कांगड़ी गाँव में प्रॉपर्टी डीलर इरशाद अहमद के घर बुधवार को मानव तस्करी निरोधक दस्ते एवं स्थानीय पुलिस ने छापा मारकर सैक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया था जहां से गुरुग्राम की रहने वाली कॉलगर्ल के साथ कई जाने माने व्यापारी तथा सम्पन्न लोग मौके से पकड़े गए।

बताया जा रहा है की इस रेड में कई सफेदपोशो की भी संलिप्तता जतायी जा रही है। नवाब निवासी एक आरोपी वहाँ से फरार होने में कामयाब रहा था। श्यामपुर पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि इंजीनियरिंग कर चुकी युवती यहां सिडकुल की एक औद्योगिक इकाई में कार्य करती थी जिसने अपने घर परिवार से संपर्क तोड़ लिया हुआ है और सुभाषनगर में किराये पर रह रही थी। युवती की जान पहचान फैक्ट्री स्वामी योगेंद्र धीमान से होने की बात सामने आई है, जिसकी मार्फत ही वह प्रॉपर्टी डीलर के घर गई थी।

आपको बता दे की जिस घर में सैक्स रैकेट चल रहा था वह फैक्ट्री स्वामी के ही करीबी दोस्त बताया जा रहा है। माना जा रहा आरोपी प्रॉपर्टी डीलर का एक काबीना मंत्री से काफी नजदीकी संबंध भी है जिसकी वजह से प्रॉपर्टी डीलर यह सारा खेल बेफिकर हो इस घर का इस्तेमाल अय्याशी के लिए किया करता था।