fbpx

भारत की हार पर पाकिस्‍तान को जश्‍न मनाना पड़ा महंगा, हर तरफ छाया मातम

अभी हाल ही में 18 जून को भारत-पाक के बीच मैच हुआ था जिसमें भारत पाकिस्‍तान से हार गया भारत के इस हार पर जिस तरह से पूरा पाकिस्तान जश्न मना रहा था उसे देखकर तो यही लग रहा था कि जैसे ईद आ गयी है और ईद का जश्‍न मनाया जा रहा है। जश्‍न तो मनाया ही इन पाकिस्‍तानियों ने लेकिन कुछ पाकिस्तानी का मन इतना ज्‍यादा बढ़ गया कि वो भारत को गाली देने लगे। इन सबमें पाकिस्‍तानी मीडिया क्‍यों पीछे रह सकता था उसका मन और थोड़ा ज्‍यादा बढ़ गया और एंकर ने पीएम मोदी को ये तक कह दिया कि जो पानी मोदी ने रोक रखा है उसी में जाकर डूब मरो।

 

 

हमें ये नहीं समझ आता कि इस मैच में जीतने के बाद ये पाकिस्‍तानी इतने बौखला क्‍यों गए? ये तो आम बात है कि खेल होगा तो किसी न किसी की जीत या हार होगी ही तो पाकिस्‍तानियों का इस तरह से जश्‍न मनाना कुछ समझ नहीं आ रहा था लेकिन कहते हैं न कि जो दूसरे का बुरा चाहते हैं उनकी खुशी ज्‍यादा देर के लिए नहीं होती। दरअसल पाकिस्‍तान के जश्‍न मनाते समय कुछ ऐसा हो गया कि इनका जश्‍न मातम में बदल गया।

इस जीत में एक कट्टरपंथी ज्यादा ही उत्साहित हो गया था और उस समय जश्‍न के दौरान कुछ पाकिस्तानी ऑटोमेटिक हथियारों से ताबड़तोड़ फायरिंग कर रहे थें लेकिन अधिक उत्साहित होने से उनसे ज्यादा गोलियां चल गयी और 32 लोगों के शरीर को लग गई वे सभी वहीं घायल हो गए।

सभी घायलों की हालत गंभीर हो गई जिसके कारण उन्‍हें लेडी रिडिंग होस्पिटल में लहू-लुहान हालत में भर्ती करवाया गया है। बता दें वहां के माफिया तंत्र को देखते हुए पुलिस ने पहले से ही जीत की ख़ुशी में किसी भी प्रकार से फायरिंग करने को मना किया था लेकिन उसके बाद भी लोगो ने उनके नियमों को नही माना। पुलिस इस मामले में जांच कर रही है।