द्रौपदी के अनुसार इन महिलाओं से पुरूष हमेशा रहते हैं खुश

हर महिला की अपने घर को संभालने व अपनी गृहस्‍थी व्‍यवस्थित तरीके से चलाने में अहम भूमिका होती है। शास्‍त्रों के अनुसार अगर घर की महिला शुद्ध आचरण वाली हो तो उसके सदगुणों की महक से घर-परिवार हमेशा खुश रहता है। ऐसे परिवार में हमेशा सुख, शांति का माहौल बना रहता है। लेकिन वहीं इसके विपरीत कुछ हो तो जरा सोचिए क्‍या हो सकता है इसीलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि स्‍त्री के महाभारत में द्रौपदी ने सत्यभामा को बताई थी कुछ खास बातें जिससे अगर महिलाएं अपना लें तो उनके पति हमेशा उनसे खुश रहेंगे और अपना गृहस्‍थ जीवन सुखी से बिता सकती है।

 

 

जानें कौन से हैं वो काम :

1. कभी भूल से भी पति को वश में न करें :- अक्‍सर महिलाएं पति को वश में करने के लिए तंत्र-मंत्र, औषधि आदि का प्रयोग करती हैं लेकिन वो ये भूल जाती है कि प्रेम छल से नहीं मिलता और ऐसा करने से प्रेम कभी स्थायी नहीं रहता। इस बारे में जैसे ही पति को पता चल जाता है उसका वैवाहिक संबंध खराब हो जाता है।

2. हमेशा अच्‍छी बातें करने की कोशिश करें :- अपने पति से सदा वही बात करें जिससे उसे खुशी मिलती हो। ध्‍यान रखें कि आपके बातों से किसी का अपमान हो या उसे दुख मिले ऐसी बात नहीं करनी चहिए।

3. ससुराल रिश्तों के बारे में जानकारी रखना :- अक्‍सर जो महिला समझदार होती है वो हमेशा अपने परिवार के सभी रिश्तों के बारे में जानकारी रखती हैं, क्योंकि एक भी रिश्ता भूलने से संबंध बिगड़ सकता है।

4. बुरे आचरण वाली महिलाओं के साथ न रहें :- अपने गृहस्‍थ जीवन को अच्‍छा व सुखी देखना चाहती हैं तो हमेशा बुरे आचरण वाली और चरित्रहीन महिलाओं से दूर रहें। वरना उनके साथ रहने से आपके गृहस्थ जीवन में समस्या आ सकती हैं।

5. आलस्य को दूर रखना :- किसी भी काम के लिए महिला को कभी आलस नहीं करना चाहिए। उसे सही समय पर सारा काम करना चाहिए ताकि उसका समय व्यर्थ न हो। ऐसा करने पर पति और पत्नी के बीच प्रेम बना रहता है।

6. दरवाजे पर खड़े न रहें:- माना जाता है कि सभ्‍य महिला की निशानी है कि उन्‍हें बार-बार दरवाजे पर या खिड़की पर खड़े नहीं होना चाहिए। ऐसा करने वाली स्त्रियों को हेय दृष्टि से देखा जाता है।

7. अजनबी लोगों से बात न करें :- एक सभ्‍य महिला को अजनबी लोगों से बातचीत करना अच्छा नहीं माना जाता।