fbpx

4 ऐसे झूठ जिन्हें हम हमेशा से सच मानते आ रहे हैं, परंतु सच्‍चाई कुछ और ही है

हम अक्सर ऐसी चीजें करते है जो हमें बचपन से सिखाया जाता है। हमें कुछ चीजों के बारें में हमेशा गलत बताया जाता है जिनको हम सच मान लेते है ऐसे में आपकी गलती नहीं होती है। ऐसे में ये गलती उसकी होती है जिन्होंने आपको ये सब चीजें सिखाई है। आइए जानते है ये कौनसी चीजें है जिसमे आप गलत करते है और आपको उसका सही तरीका कोई नहीं बताता है। 

बैटरी चार्ज करने वाला झूठ

देखिए दोस्तों जब से हमने फोन लिया है या फिर कह लिजिए की जब से आपके घर में फोन आया है तो तब से हमने देखा है कि फोन को ज्यादा या बार बार चार्ज करने से बैटरी खराब हो जाती है और आपका फोन इससे खराब हो जाएगा। लेकिन अस्ल में जिस समय फोन आया था उस समय फोन की बैटरी ज्यादा चार्ज करने से फूल जाती थी और मोबाइल काम नहीं करता था। लेकिन अब ऐसा नहीं है अब एंड्रॉयड फोन का जमाना है अब के मोबाइल में स्मार्ट बैटरी आती है जो कितना भी चार्ज करने से खराब नहीं होती क्योंकि ये बैटरी लिथियम आयन की बनी होती है। लेकिन हमारी अभी भी पुरानी वाली ही आदत है जो जाती ही नहीं है।

सर्दी लगने वाला झूठ

इस वाले झूठ का तो सबको पता होना चाहिए कि ठंड के मौसम में अगर आप आइसक्रीम खाओगे तो आपको सर्दी लग जाएगी अगर आप ठंड़ा पानी पीते हो तो भी आपकी तबियत खराब हो जाएगी लेकिन सच कुछ और है जी हां दोस्तों ठंड में आइसक्रीम खाने से या फिर ठंड़ा पानी से हमें सर्दी नहीं लगती है। हमें सर्दी तब लगती है जब हमारे अंदर वायरस होत है। तब आप अपना कितनी भी देखभाल कर लो आपको ठंड ही लगेगी। तो अगली बार ये ध्यान में रखना दोस्तों की आपको सर्दी ठंडी चीज खाने से नहीं लगती है। बल्कि आपको सर्दी आपके अदंर जो वायरस होने है सर्दी के उनकी वजह से लगती है।

ज्यादा टीवी देखने से आँखे खराब होना

ये चीज तो आपके भी घरवालों ने आपको जिदंगी में एक बार तो जरूर बोला होगा की इतना ज्यादा टीवी मत देखों वरना आपकी आंखें खराब हो जाएगी। लेकिन सच बात तो कुछ और है। वैसे होता है कि ज्यादा टीवी देखने से आपकी आंखों में थोड़ी देर के लिए तनाव होता है जिससे आपको आखों में हल्का का दर्द भी होता है। लेकिन हम आपको सच बात बताए तो एक सिर्फ और सिर्फ एक अफवाह है कि ज्यादा टीवी देखने से आपकी आंखों को नुकासान होता हैं। टीवी देखने से आंखों का कोई लेना देना नहीं होता है। तो अगली बार आपको कोई टीवी देखने से रोके तो उनको इस बारें में जरूर बताए की टीवी देखने से आंखे खराब नहीं होती है।

बैग को पीछे पीठ पर लगाना

हम अक्सर ये चीजें जरूर देखते है स्कूल या फिर कॉलेज और ऑफिस जाते समय बैग को पीछे की और टांगते है, ऐसा हम इसलिए करते है क्योंकि हमें इसकी आदत जो लग गई है। लेकिन ऐसा करना गलत है। ऐसा करने से बच्चों की हाइट पर इसका असर होता है जिससे बच्चों की हाइट रुक जाती है। लेकिन अगर आप अपना बैग आगे की ओर लगाते है तो आप इस बीमारी से बच सकते है।