9 महीने की इस बिन ब्याही बछिया ने दिया दूध, जिसे पीने के बाद खत्म हो गया कैंसर ? पढ़े पूरी खबर

आज हम आपको एक ऐसी खबर से रूबरू करवाने वाले है, जिसके बारे में जान कर आप हैरान रह जायेंगे. जी हां आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ये खबर एक गाय से संबंधित है. वैसे ये तो आप सब जानते ही होंगे कि एक गाय का दूध देना आम सी बात है. मगर यदि हम आपसे कहे कि एक बछिया जो अभी केवल तेरह महीने की है, उसने दूध दिया है, तो क्या आपको यकीन होगा. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ये खबर मध्य प्रदेश भिंड गांव की है. जहाँ एक बिन ब्याही तेरह महीने की बछिया ने दूध देना शुरू कर दिया. इसके इलावा गांव के लोगो का कहना है कि ये बछिया जब नौ महीने की थी, तभी से दूध दे रही है.

हालांकि यहाँ सबसे बड़ी दिलचस्प बात तो ये है कि लोग इस बछिया के दूध को प्रसाद मान रहे है.  इसके साथ ही यहाँ के लोगो का मानना है कि ये भगवान् के किसी चमत्कार से कम नहीं है. गौरतलब है कि इस बछिया के दूध की खबर फैलते ही लोग इसे दूर दूर से देखने के लिए गांव आते है. यहाँ तक कि गांव के लोगो का ये दावा है कि इस बछिया के दूध से कैंसर और टीबी जैसी कई बीमारिया दूर हो जाती है. इसके इलावा गांव के लोग इसे भगवान् का चमत्कार मान कर इस बछिया की पूजा कर रहे है और इस बछिया को लोग फल तथा फूल भी चढ़ा रहे है.

जी हां दरअसल लोगो का कहना है कि जो बीमारिया डॉक्टर के इलाज से ठीक नहीं हुई, वो इस बछिया के दूध से दूर हो गई. वही वेटनरी डॉक्टर का कहना है कि ऐसे मामले कई बार देखने को मिलते है. जी हां इस बारे में डॉक्टर का कहना है कि बिना माँ बने बछिया का दूध देना कोई चमत्कार नहीं है.  वास्तव में ऐसा हार्मोन बढ़ने के कारण होता है. गौरतलब है कि कई बार हार्मोन बढ़ने के कारण एक गाय बिना माँ बने ही दूध देना शुरू कर देती है.

हालांकि डॉक्टर भले ही कुछ भी कहे, लेकिन गांव के लोग डॉक्टर से ज्यादा अपने अंध विश्वास की ही मानेगी. अब क्या करे, हमारा भारत देश है ही इतना अनोखा कि यहाँ हर बात को चमत्कार से जोड़ दिया जाता है. यहाँ कोई व्यक्ति ये भी सोचने की कोशिश नहीं करता कि वास्तव में असलियत क्या है ? यहाँ कोई ये नहीं सोचता कि क्या ये वास्तव में चमत्कार है और क्या वास्तव में ये सही है ? खैर ये तो गांव के लोगो की सोच है, जिसे हम नहीं बदल सकते.

बरहलाल हम तो इसके बाद यही कहेगे कि अगर आपको कभी कोई ऐसा चमत्कार देखने को मिल जाए यानि ऐसा कोई नजारा देखने को मिल जाए, तो उस पर अंध विश्वास करने की बजाय उसके बारे में जाँच पड़ताल जरूर कर ले.