नए साल के आने से पहले हो गई इस मशहूर एक्‍ट्रेस की बहन की मौत, फिल्‍म जगत में छाया सन्‍नाटा

जैसा की पूरा देश एक तरफ नये साल के इंतजार में लगा हुआ है वहीं दूसरी तरफ आज एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे जानकर आप फिर से दुखी हो जाएंगे। दरअसल इस बार एक बार फिर से फिल्‍म जगत को नुकसान पहुंचा है। खबर मिली है कि आप सभी की चहेती श्‍वेता तिवारी की बहन अर्पिता तिवारी की मौत हो गई है।

जानकारी के अनुसार बता दें कि मुंबई के मलाड स्थित एक ऊंची बिल्डिंग की 15वीं मंजिल से गिरने से अर्पिता की मौत हो गई थी। मौत से पहले अर्पिता अपने बॉयफ्रेंड के साथ मलाड में रहती थीं और एक दिन उनकी लाश उनके इसी मलाड स्थित घर से बरामद हुई। लेकिन अर्पिता के परिवार वालों का मानना है कि अर्पिता की मौत हादसा नहीं बल्कि हत्‍या है।

 

अर्पिता की मौत में शुरुआती आरोपी माने जाने वाले 2 शख्स, अर्पिता के बॉयफ्रेंड पंकज जाधव और पंकज के दोस्त अमित कुमार दोनों ही फ़रार हैं। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई न होता देख अब अर्पिता के परिवार का सब्र का बांध टूटता जा रहा है। अर्पिता के पिता त्रिवेणी तिवारी का कहना है कि जो पांच संदिग्ध जिनपर उनकी बेटी के खून का आरोप लगा है उन्हें बकरे की तरह हलाल किया जाना चाहिए।

वहीं इस मामले पर एक इंटरव्‍यू में श्वेता तिवारी ने कहा कि उनके परिवार में कोई भी पंकज को पसंद नहीं करता था। श्वेता को अपने एक दोस्त के जरिए पता चला था कि अर्पिता पंकज से शादी करना चाहती थी लेकिन वह तैयार नहीं था। वहीं ये दोनों छह साल से भी ज्यादा समय से रिलेश्न में थे।

श्वेता ने साथ में ये भी बताया कि पंकज कहीं भी नौकरी नहीं करता था और साथ ही अर्पिता के साथ नशे में होकर मारपीट भी करता था। आप ही बताइए कौन चाहेगा कि ऐसे व्यक्ति से किसी की बहन शादी करें? वह बहुत गुस्से वाला है।”

श्वेता तिवारी का मानना है कि अर्पिता की मौत किसी घटना का परिणाम है। यह न तो सुसाइड है और न ही एक्सीडेंट यह पूरी तरह से प्लांड रेप और मर्डर है। वहीं आरोपी पंकज के मुताबिक वारदात वाले दिन पंकज, अर्पिता और अमित तीनों हॉल में सोए हुए थे और बाकी दोस्त दूसरे कमरे में सो रहे थे।

वहीं अगर प्रशासन की बात करें तो पुलिस को इस बात पर शक है कि जाधव और अर्पिता के बीच सोमवार सुबह लड़ाई हुई थी जब अर्पिता वाशरूम जा रही थीं। इस दौरान दोनों के बीच तकरार हाथापाई तक बढ़ गई और चोट लगने से अर्पिता की मौत हो गई। इसके बाद अमित और जाधव ने इसे आत्महत्या का रूप देने के लिए अर्पिता के शव को बाथरूम की खिड़की से नीचे धकेल दिया।