लंबे समय से हो रहे विरोध के बाद बदल गया “पद्मावती” का नाम, अब रिलीज डेट का है इंतज़ार

आखिर कौन थी रानी पद्मावती जिनपर बनी फिल्म को लेकर इतना ज्यादा बवाल छिड़ा हुआ है, तो आपको बता दे की रानी पद्मावती चित्तौड़ की महारानी थीं। इसके अलावा लोग उन्हें पद्मिनी कहानामा से भी जानते है और आपकी जानकारी के लिए बता दे की वो राजा रतन सिंह की पत्नी थीं। संजय लीला भंसाली निर्मित फिल्म पद्मावती जिसे दिसम्बर के श्यरूवात में ही रिलीज होना था मगर रानी पद्मावती के अपपतिजनक चित्रण की वजह से पहले राजस्थान फिर तकरीबन देशभर में इस फिल्म का जबर्दस्त विरोध होने लगा जिसकी वजह से फिल्म को रोकना पड़ा। हालांकि इस विवाद पर अब एक नया मोड़ आ गया है।

असल में जानकाऋ के अनुसार बताया जा रहा है की सेन्सर बोर्ड की तरफ से इस फिल्म को अब U/A सर्टिफिकेट मिल गया है और साथ ही यह भी सुनने में आ रहा है की फिल्म में कुछ काँट-छाँट के और ज्र्रि बदलाव के बाद रिलीज करने की भी अनुमति मिल गयी है। मगर सबसे बड़ा मुद्दा यहाँ ये है की अब इस फिल्म का नाम पद्मावती की जगह “पद्मावत” किया जा रहा है साथ ही फिल्म का गाना ‘घूमर’ में भी कुछ बदलाव की बात कही जा रही है। हालांकि इस सभी बातों पर अभी तक कोई आधारिक बयान नहीं आया है।

आपको बता दे की सेन्सर बोर्ड की तरफ से हुई बैठक के बाद यह फैसला लिया गया है की फिल्म पद्मावती में 26 कट लगाए जाएंगे जिसके बाद रिलीज की अनुमिति दी जाएगी। मगर दूसरी तरफ राजपूत करणी सेना अभी भी अपने बागी तेवर पर आदि हुई है और चेतावनी दिये हुए है की यदि फिल्म को रिलीज किया गया तो वे निश्चित रूप से विरोध करेंगे और जरूरत पड़ी तो थिएटर में तोड़फोड़ भी हो सकती है जिसकी पूरी जिम्मेदाऋ सरकार की ही होगी।

राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इस फिल्म का विरोध करते हुए बताया था की इसमे इतिहास से छेड़छाड़ की गयी है और तथ्यों को गलत तरीके से दिखाया गया है जो पूरी तरह से उनके मान सम्मान के खिलाफ है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची। फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर नृत्य करते दिखाया गया है जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां कभी भी घूमर नहीं करती थीं। हालांकि, फिल्म के निर्माता संजय लीला भंसाली यह साफ कर चुके हैं कि जिस तरह की अफवाहें चरो तरफ फैली हुई है वैसा इस फिल्म में कुछ भी है ही नहीं।