नहाते हुए कौन से अंग पर आप पहले पानी डालते है, जाने इस पर आपका व्यक्तित्व कैसे निर्भर करता है

आज हम आपको एक ऐसी जानकारी देने वाले है, जिसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते होंगे. जी हां आपको जान कर ताज्जुब होगा कि आपके नहाने के तरीके का आपके निजी जीवन पर काफी गहरा प्रभाव पड़ता है. बता दे कि इससे आपके व्यक्तित्व का पता चलता है. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हाल ही में एक रिसर्च की गई थी. जिसमे व्यक्ति के नहाने के तरीके यानि व्यक्ति किस अंग पर पहले पानी डालता है, इसका अध्ययन किया गया था. बरहलाल इस बारे में कई रोचक कहानियां देखने और सुनने को मिली. तो चलिए अब आपको भी इस अध्ययन के बारे में विस्तार से बताते है.

१. छाती.. गौरतलब है कि जो लोग सबसे पहले छाती पर पानी डालते है वो काफी व्यावहारिक होते है. जी हां ऐसे लोग जब किसी काम में ध्यान लगाते है, तो उसके ध्यान को भंग करना मुश्किल होता है. इसके इलावा यदि उनके ध्यान को भंग करने की कोशिश की जाएँ तो इससे इन लोगो को नफरत होती है. इसके साथ ही अगर कोई व्यक्ति इनके मुताबिक काम नहीं करता तो ये लोग अपना धैर्य खो देते है. बता दे कि ये लोग नयी चीजों को आजमाने के लिए हमेशा तैयार रहते है. बरहलाल इनके लिए अच्छा पार्टनर वही होता है, जो सबसे पहले अपने बाल धोता है.

२. सिर.. गौरतलब है कि जो लोग सबसे पहले अपना सिर धोते है, वो कला में निपुण होते है. जी हां ऐसे लोग दिन में भी सपने देखते है और इनमे किसी भी काम को करने की समर्पण शक्ति कम होती है. हालांकि ये लोग अपने लक्ष्यों को हासिल करने के लिए हर मुमकिन प्रयास करते है. इसके इलावा इनके लिए पैसा ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं होता.

३. चेहरा.. जो लोग सबसे पहले अपना चेहरा धोते है, उनके लिए पैसा बेहद अहमियत रखता है. जी हां ये लोग पैसे के लिए कुछ भी कर सकते है. यही वजह है कि इनके लिए ईमानदारी और गरिमा कोई मायने नहीं रखती. ऐसे में इस तरह के व्यक्ति को समझना दूसरो के लिए भी मुश्किल होता है. बरहलाल ये लोग काफी हद तक केवल अपने बारे में ही सोचने वाले होते है.

४. बगल.. गौरतलब है कि जो लोग पहले अपनी बगल धोते है, वो कड़ी मेहनत करने वाले और भरोसेमंद होते है. ऐसे लोग न केवल जमीन से जुड़े होते है, बल्कि काफी लोकप्रिय भी होते है. अब यूँ तो ऐसे लोग दूसरो की मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहते है, लेकिन ये लोग इस बात को समझने में असमर्थ होते है कि सामने वाला व्यक्ति इनके लिए सही है या नहीं.

५. निजी अंग.. गौरतलब है कि जो लोग अपने निजी अंग को पहले धोते है, वो शर्मीले होते है. बता दे कि ये लोग आत्मविश्वासी नहीं होते और ऐसे में दूसरे लोग इनकी खिंचाई करते है. इसके इलावा इनके ज्यादा दोस्त नहीं होते, क्यूकि दूसरे लोग इन्हे बोरिंग समझते है. जिसके चलते ये हालातो से जल्दी हार मान लेते है.

६. कंधा….गौरतलब है कि जो लोग पहले कंधा धोते है, वो जीवन में हारने वाले होते है. जी हां ये लोग जो भी करते है, उन्हें हर काम में असफलता मिलती है. इसके इलावा इन लोगो को दूसरे लोग ज्यादा पसंद नहीं करते और ऐसे में ये अकेले ही रहते है. इसके साथ ही ये लोग जुआरी और शराबी होते है और इनके लिए पैसो की ताकत सबसे बड़ी ताकत होती है.

७. शरीर के अन्य अंग.. बता दे कि जो लोग पहले शरीर के अन्य अंगो को धोते है, वो औसत दर्जे के होते है. हालांकि इनमे आंतरिक शक्ति जरूर होती है, लेकिन वो लोगो को आसानी से नहीं दिखती. इसके इलावा ये लोग कल्पना की दुनिया में ज्यादा रहते है, लेकिन उन चीजों को पूरा करने में असमर्थ होते है.

बरहलाल हमें यकीन है कि इसे पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे कि आप किस श्रेणी में आते है.