जया ने रेखा को अमिताभ की जिंदगी से बाहर करने के लिए किया था कुछ ऐसा कि…

ये तो सब जानते है, कि बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने हाल ही में अपनी मैरिज एनिवर्सिरी सेलिब्रेट की थी. ऐसे में आज भी फ़िल्मी गलियारों में इस जोड़ी की मिसाले दी जाती है. बता दे कि इस प्रेमी जोड़े की पहली मुलाकात पुणे फ़िल्मी इंस्टिट्यूट में हुई थी. मगर इन दोनों की वास्तविक जान पहचान तो फिल्म गुड्डी के सेट पर हुई थी. गौरतलब है, कि उस दौरान जया बच्चन अमिताभ से ज्यादा फेमस भी थी.

वही इस बारे में बात करते हुए जया बच्चन ने बताया कि मैं उनसे गुड्डी के सेट पर मिली थी और तब मैं उनसे काफी इम्प्रेस हुई थी. इसके इलावा मैं उनकी तरफ इस बात को लेकर भी आकर्षित हो गयी कि वो हरिवंशराय बच्चन जी के बेटे है. इसके बाद जया ने कहा कि मुझे बहुत जल्दी उनसे प्यार हो गया और फिर मैंने उनसे शादी करने का फैसला कर लिया. वैसे अगर अमिताभ और जया बच्चन की बात करे और इस दौरान रेखा की याद न आये, ऐसा तो हो ही नहीं सकता.

जी हां गौरतलब है, कि अमिताभ और रेखा के प्यार के बीच फंसी जया को अपने पति को पाने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी थी. तो चलिए अब हम आपको उस किस्से के बारे में बताते है, जिसके बाद अमिताभ रेखा से हमेशा के लिए दूर चले गए थे. बता दे कि वो 1977 का समय था, जब रेखा मांग में सिंदूर सजा कर और माँ बनने की खबरे मीडिया में फैला कर अमिताभ के साथ अपना रिश्ता जगजाहिर करने में लगी हुई थी. वही दूसरी तरफ जया बच्चन शान्ति से अपने परिवार को बिखरने से बचाने में लगी हुई थी.

फिर एक दिन जब अमिताभ किसी फिल्म की शूटिंग के चलते मुंबई से बाहर गए, तो उस दिन जया ने रेखा को फोन किया. ऐसे में जया बच्चन का फोन उठाते ही रेखा ने सोचा कि अब वह उनको भला बुरा कहेगी. मगर ऐसा कुछ नहीं हुआ. जी हां बता दे कि जया ने उस दिन फोन करके रेखा को घर पर डिनर के लिए बुलाया. इसके बाद रेखा ने सोचा कि जया उन्हें अपने घर बुला कर बेइज्जत करेगी और खूब रोना पीटना भी होगा. फिर रात के समय रेखा खूब सज धज कर जया के घर पहुंची. बता दे कि रेखा के मुकाबले जया बिलकुल सादे कपड़ो में थी.

इसके बाद उन्होंने रेखा का स्वागत किया और उनसे काफी बातचीत भी की. आपको जान कर हैरानी होगी कि इस बातचीत में अमिताभ का जिक्र बिलकुल नहीं हुआ. हालांकि इसके बाद अमिताभ और रेखा का रिश्ता हमेशा के लिए खत्म हो गया. शायद यही वजह है, कि आज भी अमिताभ और रेखा एक दूसरे के सामने आने से कतराते है.