fbpx

श्रीदेवी की मौत से पूरा देश है सदमे में, मुंबई में घर के बहार का नजारा है हैरान कर देने वाला

बीती रात बॉलीवुड के एक सितारा श्रीदेवी ने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को हमेशा हमेशा के लिए अलविदा कह दिया. दुबई में एक शादी अटेंड करने गयी श्रीदेवी की हार्ट अटैक से हुई इस अचानक मौत ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है. श्रीदेवी के लाखों चाहने वालों के लिए रविवार की सुबह एक बेहद काले दिन के रूप में सामने आया है. लोगों को भरोसा नहीं हो पा रहा है की उनकी चांदिनी अब उनके बीच नहीं रही. इस मशहूर एक्ट्रेस की अचनक हुई इस मौत के बाद मुंबई में उनके आवास का नजारा देख आप भी एक बार को चौंक जाएंगे और यक़ीनन गवाह बनेंगे उस इतिहास के जिसमे श्रीदेवी का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जायेगा. आईये आपको बताते हैं की श्री देवी की मौत के बाद उम्बई स्थित उनके घर का नजारा कैसा है.

घर के बाहर लगा है चाहने वालों का हुजूम

 

बता दें की दुबई में बीती रात हार्ट अटैक की वजह से हुई श्री देवी की मौत से उनके परिवार के साथ साथ उनके सभी चाहनेवालों को भी जोरदार झटका लगा है. इसी बाबत श्रीदेवी के तमाम चाहनेवालों ने उनके मुंबई स्थित घर के बाहर एक विशाल हुजूम लगा दिया है. सभी श्रीदेवी की आखिरी झलक पाने के लिए बेताब है, किसी को भरोसा नहीं हो पा रहा हैं की उनकी चहेती एक्ट्रेस अब उनके बीच नहीं रहीं. श्रीदेवी का पार्थिव शारीर हालाँकि आज शाम करीबन सात आठ बजे तक ही भारत आ पायेगा क्यूंकि दुबई में हुई मौत की वजह से वहां का कानून भी अपनी तरफ से कुछ स्टेप्स लेते हैं जिसके पूरे होने के बाद ही शारीर को परिवार के हवाले किया जाता है. सूत्रों से मिली जानकरी के अनुसार श्रीदेवी का पार्थिव शारीर का फिलहाल दुबई के ही एक हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम किया जा रहा है जिसके बाद ही उनका परिवार पार्थिव शारीर को लेकर मुंबई लौट पायेगा. श्रीदेवी के शारीर को मुंबई पहुँचने में बहले ही शाम तक का वक़्त लगेगा लेकिन उनके लाखों फैन और चाहनेवालों का मजमा अभी से उनके घर के बाहर लग चूका है जो की एक पल के लिए भी उस पल को मिस नहीं करना चाहते हैं जब वो एक आखिरी बार अपनी चहेती अभिनेत्री के दर्शन कर पायेंगे.

श्रीदेवी को हमेशा रहेगा इस बात का अफ़सोस

आपको बता दें की मौत से पहले फिल्मफेएर को दिए एक इंटरव्यू में श्रीदेवी ने बताया था की उन्हीं हमेशा अपनी जिंदगी में इस बात का अफ़सोस रहेगा की वो अपनी तालीम पूरी नहीं कर सके और कभी स्कूल नहीं जा पाई. बता दें की श्रीदेवी एक ऐसी एक्ट्रेस थी जिन्होनें महज चार साल की उम्र से ही फिल्मों में काम करने शुरू कर दिया था और जुली उनकी पहली हिंदी फिल्म थी जिसके बाद उन्होनें कभी पीछे मड़कर नहीं देखा. श्रीदेवी ने एक बार ये भी कहा था की मैं नहीं चाहती की मेरी बेटियाँ भी फिल्मों में काम करने के वजह से अपनी पढाई बीच में ही छोड़ दें, ये बात उन्होनें अपनी बड़ी बेटी जहान्वी के लिए कही थी की वो पहले अपनी पढाई पूरी कर लें फिर फिल्मों में अपना करियर बनाएं. बता दें की जहान्वी की पहली फिल्म “धड़क” इसी साला जुलाई में रिलीज़ होने वाली है लेकिन अफ़सोस की श्रीदेवी इससे पहले इस दुनिया को अलविदा कह चली गयी. श्रीदेवी ने बताया था की चूँकि वो बचपन से ही फिल्मों में काम अकरने लगी थी और परिवार की हालत ऐसी थी की वो फिल्में नहीं छोड़ सकती थी उन्हें फिल्म और पढाई में से किसी को चुनना पड़ा और उन्होनें फिल्मों को चुना. श्रीदेवी की याद सबको बहुत आएगी लेकिन अपनी फिल्मों की वजह से वो हमेशा लोगों के दिलों में रहेंगी.