पैर के आकार भी खोलते हैं हर मर्द और औरत के व्यक्तित्व से जुड़े कई राज़,ऐसे जानिए किसी की भी खास बातें

ज्योतिष के अंतर्गत शरीर के अंगों की बनावट, आकार और रंग से व्यक्तित्व के रहस्य मालूम किया जा सकता है, और इनसे भविष्य की जानकारी भी प्राप्त कि जा सकती  है।समुद्र शास्त्र, भारतीय ज्योतिष शास्त्र की ही एक शाखा है जिसके अनुसार मनुष्य के  शरीर के अंगों की बनावट, आकार और रंग से किसी का भी रहस्य जाना जा सकता है|  सामुद्रिक विद्या में मनुष्य के सिर से लेकर पैर तक हर अंग के आकार का वर्णन किया गया है। । सामुद्रिक विद्या के अलावा गरुड़ पुराण और भव‌िष्य पुराण में भी महिलाओं और पुरुषों के अंगों का वर्णन किया गया है।

जैसा के हम सभी अक्सर देखते है की  आपको जानकर थोड़ी हैरानी हो सकती है, लेकिन ये सच है कि लोगों के अलग-अलग पैर के आकार से उस व्यक्ति के चरित्र और व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता चलता है। आपने ऐसे कई लोगों को देखा होगा जो हाथ देखकर भविष्य बताते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं शरीर के अंगों को देखकर किसी का स्वभाव जाना जा सकता है।

 A. रोमन फुट

रोमन पैर का अर्थ अंगूठे और उसके बाद की दोनों उंगलियां का आकार एक समान होना है। अगर किसी का पैर इस आकार का है तो वो काफी मिलनसार होता है। ऐसे लोगों को सभी से मिल-जोल बढ़ाना काफी पसंद होता है। ये लोग कभी भी एकदम आवेश में नहीं आते हैं। ये लोग शांति प्रिय होने के कारण ये लोग कभी-कभी आलसी भी हो जाते हैं। इसी आदत की वजह से कार्यों में देरी भी का देते है !

B. स्क्वेयर फुट

स्क्वेयर फुट यानि पैर का मतलब सभी उंगलियों की लंबाई का समान होना है। जिस व्यक्ति के पैरों की सभी उंगलियां समान हो वह काफी शांत और सुलझे हुए स्वभाव का होता है। ऐसे व्यक्ति कोई भी फैसला जल्दबाजी में नहीं बल्कि काफी सोच समझकर लेते हैं। ऐसे लोग अपने श्रम के बल पर कार्यों में सफलता प्राप्त करते हैं। श्रम के बल पर ही इन्हें मान-सम्मान भी प्राप्त होता है। इस प्रकार के पैर का शेप होने पर व्यक्ति घर-परिवार में भी अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह अच्छी तरह से करता है। इन्हें श्रम के बल पर ही कई उपलब्धियां हासिल होती हैं|

C. ग्रीक फुट

जिन लोगों के पैरों में अंगूठे के पास वाली उंगली अधिक बड़ी होती हैं और शेष उंगलियां छोटी होती हैं, वे लोग किसी भी काम को यूनिक तरीके से करना पसंद करते हैं। कार्यों के संबंध में इनकी प्लानिंग बहुत अलग और श्रेष्ठ होती है। अपनी योजनाओं के बल इन्हें विशेष स्थान भी मिलता है, तथा घर-परिवार में भी इन लोगों को विशेष सुख-सुविधाएं प्राप्त होती हैं।

D. स्ट्रेच्ड फुट

इस प्रकार के पैर में अंगूठा सबसे बड़ा और छिंगुनिया सबसे छोटी होता है। इस प्रकार के पैर में उंगलियों का आकार घटते हुए क्रम में होता है। इस प्रकार के पैर वाले लोग अक्सर शांत और किसी से बात करना न पसंद करने वाले होते हैं। ये लोग अकेले रहना पसंद करते हैं। इस प्रकार के पैर वाले लोग यही चाहते हैं कि हर जगह उन्हें पूरा मान-सम्मान मिले और सभी उनकी बात पलना करें। यदि घर-परिवार या समाज में कोई व्यक्ति इनकी इच्छा के अनुसार नहीं चलता है तो इन्हें गुस्सा आता है।