नवविवाहिता बेटी का कर रहे थे दाह- संस्कार, तभी श्मशान घाट पर हुआ कुछ ऐसा जानजान कांप उठेगी आपकी रूह

जहां एक ओर दो प्यार करने वालों के बीच दखलअंदाजी करने को लेकर देश की सर्वोच्च न्यायालय ने खाप पंचायत तक को सुप्रीम फटकार लगा दी। तो वहीं दूसरी ओर हमारे देश में अब भी ऑनर किलिंग जैसी कई घटनाएं सामने आती ही रहती है। ऑनर किलिंग यानी कि झूठी शान के नाम पर जान ले लेना। जी हां, सुप्रीम कोर्ट ने ये साफ कर दिया है कि अगर दो व्यस्क अपनी मर्जी से शादी करते हैं, तो किसी को भी उसमें हस्तक्षेप करने का हक नहीं है, चाहे वो खाप पंचायत हो या फिर कोई और। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले की जहां चारों ओर सराहना की जा रही है, वहीं झारखंड के एक शहर से ऑनर किलिंग की एक घटना सामने आई है।

एक लड़की जिसने प्यार किया और अपने ही प्रेमी से शादी भी कर ली। उसकी गलती सिर्फ इतनी सी थी कि उसने अपने- मां की मर्जी के बगैर ही ये शादी कर ली। उसे क्या मालूम था कि जहां उसने महज कुछ ही दिनों पहले अपने प्रेमी से शादी करते वक्त उम्रभर उसका साथ निभाने की कसमें खाई थी, वहीं कुछ दिनों बाद ही वो उसे अकेला छोड़ कर चली जाएगी। जी हां, एक दूजे का साथ निभाने से पहले ही उसकी जान चली गई। या फिर यूं कहें कि जान ले ली गई। कोडरमा के चंदवारा थाना क्षेत्र के मदनगुंडी गांव में एक नवविवाहिता की जान उसके ही परिजनों ने ले ली। बेटी के प्रेम विवाह किए जाने से नाराज परिजनों ने उसकी हत्या कर दी और शव को चुपके से जलाने की तैयारी में थे। लेकिन मौके पर पुलिस पहुंच गई और मृतिका के परिजनों को अरेस्ट कर लिया।

दरअसल, 18 साल की सोनी का कई दिनों से प्रदीप नाम के लड़के से प्रेम संबंध चल रहा था। लेकिन जब दोनों को ये महसूस हुआ कि इनके प्यार के बारे में परिवार वाले नहीं समझ रहे हैं तो उन्होंने 10 दिन पहले राजस्थान भाग कर शादी कर ली। राजस्थान पहुंचे और दोनों ने मंदिर में जाकर शादी कर ली। दोनों के परिजनों ने इस दौरान पुलिस को कोई सूचना नहीं दी। पुलिस की माने तो 25 मार्च को सोनी और प्रदीप फिर गांव वापस आए और अपने- अपने घर चले गए। इसके बाद सोनी के परिजनों ने पंचायत में इसकी शिकायत की तो मंगलवार को पंचायत बैठने की तिथि घोषित की गई। इधर, सोनी के नाराज परिजनों ने बीती रात उसपर दबाव बनाया कि वो शादी करने की बात से मुकर जाए। पर सोनी नहीं मानी। इसी बात को लेकर लड़की के परिजन काफी ज्यादा गुस्सा हो गए और सोनी की गला दबाकर रात में ही हत्या कर दी।

लड़की के परिजन सुबह शव को श्मशान घाट ले जा कर उसके अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे थे, लेकिन मौके पर पुलिस पहुंच गई। दरअसल, गांव वालों ने पुलिस को इसकी जानकारी दे दी थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर परिजनों को गिरफ्तार कर लिया, जहां उन्होंने पुलिस की पूछताछ में स्वीकार किया कि उन्होंने प्रेम विवाह से नाराज अपनी बेटी की हत्या कर दी। लड़की के चाचा में बताया कि उन्होंने सोनी का पैर पकड़ रखा था, पिता ने गला दबाया और उसकी मां ने चेहरे पर तकिया दबा रखा था।