झोले में महज पांच महीने के भ्रूण को डालकर एस पी कार्यालय पहुंची पीड़ित महिला, पूरा मामला जान रह जाएंगे सन्न

आजकल हमारे आसपास जुर्म इतना बढ़ गया है की कब किसके साथ क्या हो जाए कोई नहीं जानता. ऐसा ही एक मामला बीते दिनों सतना में देखने को मिला जहाँ एक लड़की को बंधक बना कर उसके साथ महीनों तक बलात्कार करने का मामला सामने आया है. जब लड़की प्रेग्नेंट होगयी तो उसका गर्भपात करवा दिया किसी तरह से युवती अपनी जानकर बचाकर वहां से निकली और एक झोले में जब भ्रूण लेकर न्याय की अपील लेकर एस पी कार्यालय पर पहुंची तो वहां मौजूद सभी लोग उसे देखकर हैरान रह गए. आईये जानते हैं की आखिर क्या है ये पूरा मामला और किसने किया युवती का अपहरण.

शादी का झांसा देकर युवती के साथ किया दुष्कर्म

आपको बता दें की ये मामला सतना थाना क्षेत्र का है जहाँ बीते पांच महीने पहले वाहन के एक दबंग आरोपी नीरज ने युवती का किडनैप कर उसे अपने घर ले आया था और उसके साथ करीबन महीनों तक दुष्कर्म करता रहा. इस बीच नीरज का छोटा बही और उसकी माँ युवती को ये दिलासा देकर मुह्ह बंद करने को कहा की वो उसकी शैड नीरज से करवा देंगे लेकिन वो पाना मुह्ह बंद रखें. इसके बाद उन्होनें लड़की को पाने घर जाने दिया लेकिन बीते 5 मार्च को नीरज ने युवती को फिर से अगवा करके एक सुनसान जगह पर लेगया जहाँ उसे 15 दिनों तक बंदी बना कर रखा और उसके साथ बलात्कार किया. इसके कुछ दिनों के बाद जब युवती प्रेग्नेट हुई तो करीबन पांच महीनों के बाद नीरज ने युवती का जबरन गर्भपात करवा दिया. इस बीच युवती में बार बार थाणे जाकर आरोपी नीरज के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवानी की कोशिश की लेकिन प्रशाशन ने उसकी एक ना सुनी. बीते दिनों जब युवती का जबरन गर्भपात करवा दिया गया तो युवती ने अपने पांच महीने के भ्रूण को झोले में डालकर एस पी के कार्यालय उनसे इन्साफ मांगे पहुंची.

आरोपी ने दिया जाना से मारने की धमकी

एस पी ऑफिस पहुंची पीड़ित युवती ने अपनी अप बीती बताते हुए कहा की वो आरोपी नीरज और उसके साथियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए सबसे पहले हरिजन थाणे पहुंची थी लेकिन वहां किसी ने उसकी एक ना सुनी. इस बीच आरोपी नीरज उसे जान से मारने की धमकी देते रहा और बीते मंगलवार को युवती और उसकी माँ को नीरज और उसके साह्तियों ने जबरन पानी कार में अगवा कर उसे सत्नके बिरला मार्किट स्थित एक क्लिनिक पर ले गए और वहां उन्होनें नर्स को कुछ पैसे दे कर लड़की और उसकी माँ को रोक कर रखने को कहा. पीड़ित लड़की ने बताया की लड़की और उसकी माँ को नर्स ने राटा भर रोक कर रखा और बीते बुधवार की सुबह नर्स ने लड़की का गर्भपात कर दिया. सूत्रों की माने तो जब लड़की को कोई रास्ता नहीं सूझा तो वो एक झोले में अपने पांच महीने के भ्रूण को लेकर सधे एस पी कार्यालय पहुँच गयी और एस पी ने जब लड़की की आपबीती सुनी तो इस मामले पर तुरंत करवाई करने का आदेश जारी किया है और साहत ही आरोपी नीरज और उसे दोस्तों के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज करवा दी गयी है.