जिसे आप समझते थें मामूली सा एक्‍टर वो हैं सुपरस्‍टार राजकुमार का बेटा, तस्‍वीरें देख यकीन नहीं कर पाएंगे आप

बॉलीवुड में अब काफी कुछ बदल गया है वहीं आप भी जरा गौर करेंगे तो ये देख सकते हैं कि कैसे बॉलीवुड एकदम से धीरे धीरे हॉलीवुड को भी टक्कर देने को तैयार हो गया है। आज आप इस इंडस्‍ट्री में एक से एक ऐसी फिल्‍में देखते हैं जो कि वाकई में बेहद ही बेहतरीन बनाई गई है और इसमें सबसे बड़ा हाथ बॉलीवुड के एक्टर्स का हैं उनकी वजह से ही या यूं कह लें उनकी इन बेहतरीन अदाकारी से ही आज लोग पूरे दुनिया में हर जगह बॉलीवुड का नाम लिया जाता है।

वहीं आज हम आपको बॉलीवुड के एक बेहतरीन एक्टर के बेटे के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि इस समय बॉलीवुड में काफी छाए हुए हैं। जी हाँ आज हम बात कर रहे हैं राजकुमार के बेटे पुरु राजकुमार के बेटे की हालाँकि राजकुमार का 3 जुलाई 1996 को निधन हो गया था लेकिन अब उनके बेटे बॉलीवुड में काफी नाम कमा रहे हैं। आपको याद होगा तो एक जमाना था जब राज कुमार की कई फिल्‍मों के लोग दिवाने थें और आज भी उन फिल्‍मों को लोग भुला नहीं पाते है। लेकिन क्‍या आपको पता है कि राजकुमार के बेटे पुरु राजकुमार भी अपने पिता से कम नहीं है और वो अपने पिता की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। पुरु राजकुमार अपने पिता की ही तरह पॉपुलर हैं। पूरू राजकुमार एक भारतीय फिल्म अभिनेता हैं।

वो दिवंगत दिग्गज अभिनेता राजकुमार के बेटे हैं। उन्हें हिट एंड रन केस में भी गिरफ्तार किया गया था जिसमें कई फुटपाथ पर सोने वाले लोग मारे गए थे। हालांकि उन्हें कभी भी इसके लिए दोषी नहीं ठहराया गया। पुरू राजकुमार महान अभिनेता राज कुमार और उनकी पत्नी गायत्री के बेटे हैं। वह तीन भाई बहनों में सबसे बड़े हैं। वैसे आपको बता दें कि पुरु राजकुमार अपने पिता की ही तरह बहुत फेमस हैं। साथ ही ये भी बता दें कि उन्हें हिट एंड रन केस में भी गिरफ्तार किया गया था जिसमें कई फुटपाथ पर सोने वाले लोग मारे गए थे। हालांकि उन्हें कभी भी इसके लिए दोषी नहीं ठहराया गया।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि अपने करीब चार दशक के लंबे करियर में राजकपूर ने करीब 200 फिल्में की हैं। उन्होंने 1954 में कन्नड़ फिल्म ‘बेडर कन्नप्पा’ से अपनी करियर की शुरुआत की थी और उसके बाद से ही उनका पूरा जीवन कन्नड़ सिनेमा को समर्पित रहा। इतना ही नहीं उन्होंने सिर्फ तमिल फिल्म ‘श्री कालहस्तीस्वरा महात्यम’ में भी बेहतरीन प्रदर्शन दिया। उनके लोकप्रिय फिल्मों में ‘रणधीर कंटीरवा’, ‘कविरत्न कालिदास’, ‘जेडारा बेल’ और ‘गोवरी’ हैं। वह लोकप्रिय गायक भी थे उन्होंने लगभग 300 गाने गाए हैं। उन्हें पद्मभूषण, दादा साहब फाल्के जैसे पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है।

पुरु ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुवात फिल्म ‘बल ब्रह्मचारी ‘ से की थी। जिसे लोगों ने काफी पसंद भी किया था बताते चलें कि इनकी ये फिल्म राजकुमार के निधन के कुछ महीने बाद रिलीज हुई थी।

लेकिन वहीं इस फिल्‍म के रिलीज होने के बाद पुरू ने करीब 3 साल का ब्रेक लिया जिसके बाद वो साल 2000 में आयी फिल्म ‘हमारा दिल आपके पास ‘ में विलन की भूमिका निभाई थी। उन्‍होने कई बी-ग्रेड फिल्मों में काम करने के बाद वो एक गोरखा सिपाही के रूप में मल्टी-स्टारर फिल्म एलओसी कारगिल (2003) में नजर आये।