पुलिस ने मन्दिर में परिवार वालों के सामने करा दी भाई – बहन की शादी, वजह जानकर दंग रह गया पूरा शहर

आये दिन हमे शादी  विवाह ,प्रेम प्रसंग  के मामले सुनाई देते रहते है और आज एक बार फिर से यूपी मेरठ  शहर में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है।जहाँ एक युवती को अपने ममेरे भाई से ही प्यार हो गया जिसके बाद  धर्म परिवर्तन के बाद पंचायत बैठ गई और उस  युवती की शादी उसके ममेरे भाई से ही  करा दी गई जिसके बाद  खरखौदा के पांची गांव में धर्म परिवर्तन के बाद दूसरे समुदाय के युवक के साथ शादी की सूचना पर गांव में बखेड़ा हो गया। सैकड़ों लोगों ने युवती का घर  को  घेरकर पंचायत बैठाने की मांग करने लगे जिसके बाद  मौके पर पहुंची पुलिस दूल्हा व दुल्हन समेत परिजनों को थाने ले गई।

पुलिस ने मिली जानकारी के अनुसार बताया है खरखौदा के पांची  गांव निवासी  के ही एक व्यक्ति की पुत्री अपनी ननिहाल में गई  हुई थी और वही ननिहाल में ही युवती को दुसरे समुदाय के एक युवक से प्यार  हो गया जिसके बाद  युवती के ममेरे भाई को इस बात की जानकारी हुई तो उसने अपनी बहन को ये भरोसा दिलाया की वो उसके  प्रेमी से ही  उसकी शादी करवा देगा | जिसके लिए उसने युवती की मां यानी की  अपनी बुआ से इस बारे में  बात की।

लेकिन उन्होंने समाज के डर से  युवती की माँ ने पहले  इंकार किया था लेकिन  बाद में युवती के परिजनों को युवती के ममेरे भाई ने सहमत कर लिया।जिसके बाद  दूसरे समुदाय के युवक का गांव पांची में युवती के घर आना-जाना शुरू  हो गया। ग्रामीणों ने बताया कि छह माह पहले दूसरे समुदाय के युवक ने युवती का धर्म परिवर्तन कराकर उससे निकाह भी कर लिया था। लेकिन युवती के परिजनों ने समाज के डर से इस बात को  मानने से इंकार कर दिया।

इसके बाद मंगलवार के दिन इनकी शादी का दिन तय किया गया  जिसमे ये तय किया गया की इन्हें गांव से बाहर ले जाकर शादी करवा दिया जाये जिसके बाद मंगलवार को ही गाड़ी में  सभी जरूरी सामान लेकर दूल्हा पक्ष युवती के ममेरे भाई व एक मुस्लिम युवती को लेकर गांव में पहुंचा तथा शादी की तैयारी होने लगी जिसके बाद शादी के लिये युवती पक्ष के सभी रिश्तेदार भी गांव में पहुंचे।लेकिन जैसे ही गांव वालों और रिश्तेदारों को इस बात की जानकारी हुई की धर्म परिवर्तन के बाद इनकी शादी की जा रही है तो वे तुरंत दुल्हन पक्ष का विरोध करके इसकी सुचना पुलिस में दे दिए इसके साथ ही गुस्साए हुए ग्रामीणों ने दुल्हन पक्ष के साथ साथ दूल्हा पक्ष के लोगो की भी जमकर पिटाई कर दिए |

मौके पर जब पुलिस पहुंची तो ग्रामीणों ने युवती पक्ष पर ये आरोप लगाया की इन्होन युवती को दुसरे समुदाय को बेच दिया है वही लड़के पक्ष वाले इस बात का विरोध करने लगे की ऐसा नहीं है जिसके बाद पुलिस ने अन्य समुदाय के युवक को छोड़ दिया| जिसे युवती की शादी होने वाली थी साथ ही उसके साथ आई अन्य महिलाओं को भी छोड़ दिया गया  इसके बाद गांव के लोगों ने कहा की  यदि दूसरे समुदाय के युवक से शादी हई तो पुलिस जिम्मेदार होगी।

इसके बाद युवती ने बताया की वो अपने ममेरे भाई से ही शादी करना चाहती थी जिसके बाद थाना परिसर में बने हनुमान मंदिर में ही दोनों की शादी करा दी गई।