शास्त्रों में लिखा है की भूलकर भी इन कामों को अधूरा ना छोड़े, जाने कौन से हैं वो काम

आजकल के लोग अक्सर कुछ चीजें ऐसी करते हैं जो की उन्हें नहीं करनी चहिये क्यूंकि इससे उनके आने वाले जिंदगी पर इसका बहुत ही भयानक असर पड़ सकता है. बता दें की हमारे हिन्दू धर्मशास्त्रों के अनुसार बहुत सी ऐसी चीजें बताई गयी हैं जिन्हें भूलकर भी किसी को आधूरा नहीं छोड़ना चहिये. आज हम आपको सीसी ही कुछ चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें आधूरा छोड़ना आपके लिए बहुत नुकसानदायक हो सकता है और इसका असर आपके आने वाले जिंदगी पर भी पड़ सकता है. तो आईये आपको बताते हैं की आखिर कौन से हैं वो काम जिन्हें कभी भी किसी को भी आधूरा नहीं छोड़ना चहिये.

किसी से लिया उधार समय से वापिस कर दें

आपको बता दें की अगर आप किसी से भी किसी तरह का उधार लेते हैं तो उसे समय के साथ वापिस करना बहुत आवश्यक माना जाता है. आपको बता दें की गरुड़ पुराण में ऐसा लिखा है की किसी से भी लिय आज्ञा उधार समय रहते ही चूका देना चहिये वरना वो समय के साथ दिन बा दिन बढ़ता रहता है. किसी भी दोस्त या रिश्तेदार से लिया गया उधार समय रहते ही चूका देना सही रहता है वरना बाद में आपके रिश्तों में दरार आ सकती है.

किसी भी बीमारी का इलाज

ऐसा माना जाता है की जब कोई किसी बीमारी के इलाज की शुरुवात करता है तो उसे उस इलाज के पूरा होना के बाद ही दवा लेना बंद करना चाहिए वर्ना बा डमी आपको नुकसान पहुँच सकता है. बता दें की यदि आप किसी भी बीमारी का इलाज बेच में ही छोड़ देते हैं तो इससे आपकी बीमारी वक़्त के साथ साथ फिर से वापिस आ सकती है इसलिए बेहतर यही माना जाता है की आप समय रहते ही अपनी बीमारी का पूर्ण इलाज करवाएं और उसके बाद ही दवा लेना बंद करें. अक्सर लोग किसी भी बीमारी के इला करवाते वक़्त तकलीफ दूर होने के बाद दावा लेना बंद कर देते हैं लेकिन किसी भी हाल में दावा लेना तभी बंद करना चहिये जब आपके दावा का कोर्स पूरा हो चूका हो वरना बाद में आपको पछताना पड़ सकता है.

आग बुझाना

आपको बता दें की यदि आप कहीं पर भी थोड़ा भी आग जलते हुए देखें जिससे की किसी को नुकसान पहुँच सकता है तो उसे बिना देर किये बुझा क्यूंकि बाद में एक छोटी सी चिंगारी भी बड़े आग का रूप ले सकता है और सब कुछ जला कर राख कर सकता है इसलिए बेहतर यही होगा की आप जब भी एक छोटी सी चिंगारी भी देखे तो उसे तुरंत बुझा दें.

दुश्मनी

अगर आपकी किसी के साथ किसी भी प्रकार की कोई दुश्मनी है तो उसे समय रहते ही ख़त्म कर दें क्यूंकि आपका दुश्मन हमेशा आपको नुकसान पहुँचाने की कोशिश करेंगे इसलिए उससे अच्छा तो ये है की आप बिना किसी देरी के जिसके साथ भी आपकी दुश्मनी है उसे ख़त्म कर दें. हमारे शास्त्रों में भी ऐसा लिखा है की अपनी दुश्मनी को वक़्त रहते ही ख़त्म कर लेना बेहतर होता है क्यूंकि बाद में ये आपको काफी नुकसान पहुंचा सकता है.