अम्बानी से भी ज्यादा अमीर था ये शख्स, आज बेटे की वजह से खा रहा है दर दर की ठोकरे, पूरी कहानी जान कर रो पड़ेगे आप !

ये तो सब जानते है, कि मुकेश अम्बानी दुनिया के सबसे अमीर आदमी माने जाते है और ये सच भी है. पर अगर हम आपसे कहे कि इस दुनिया में एक ऐसा इंसान भी मौजूद है, जो मुकेश अम्बानी से ज्यादा अमीर है, तो क्या आप मानेगे. बरहलाल आप इस बात को माने या न माने, मगर ये बिलकुल सच है. हालांकि ये बात अलग है कि वो शख्स अब पूरी तरह से दिवालिया हो चुका है. जी हां दरअसल हम यहाँ दस हजार करोड़ की कंपनी के मालिक रह चुके विजयपत सिंघानिया की बात कर रहे है, जो आज कल काफी चर्चा में है और आज कल वो सड़क पर भी आ चुके है.

बता दे कि ये वही सिंघानिया है जो कभी करोड़पति लोगो की शान माने जाते थे और कोट सूट बनाने वाले रेमंड ग्रुप के मालिक थे. यहाँ तक कि सदी के महानायक अमिताभ बच्चन खुद उनके ब्रांड का प्रचार करते थे. मगर अफ़सोस कि दुनिया को सूट पहनाने वाला ये शख्स आज खुद चंद जोड़ी कपड़ो से अपना गुजारा कर रहा है. अब आप सोच रहे होंगे कि विजयपत अचानक इतने कंगाल कैसे हो गए. दरअसल बात ये है कि परिवार में हुए झगडे के बाद इनके बेटे ने इन्हे घर से निकाल दिया और एक एक पैसे का मोहताज बना दिया.

इसके इलावा आपको बता दे कि रेमंड कंपनी के मालिक विजयपत सिंघानिया ने अपनी कंपनी के सारे शेयर अपने बेटे गौतम के नाम कर दिए थे और इन शेयर्स की कीमत करीब हजार करोड़ बताई जा रही है. मगर उनके अपने ही बेटे ने सारा कारोबार अपने हाथो में लेकर अपने पिता को बेसहारा कर दिया और दर दर की ठोकरे खाने के लिए छोड़ दिया. आपको जान कर हैरानी होगी कि उनके बेटे ने गाडी और ड्राइवर सहित उनका सब कुछ छीन लिया.

वही हाल ही में सिंघानिया ने बॉम्बे हाई कोर्ट में अपील करते हुए जेके हाउस में अपने ड्यूप्लेक्स घर का पजेशन माँगा है. बता दे कि विजयपत जी ने जिस घर की पजेशन के लिए अपील की है, वो 1960 में बना था और उस समय वह चौदह मंजिला था. मगर बाद में इस बिल्डिंग के चार ड्यूप्लेक्स रेमंड की सब्सिडरी पश्मीना होल्डिंग्स को दे दिए गए और फिर साल 2007 में कंपनी ने इस बिल्डिंग को दोबारा बनाने का फैसला किया. ऐसे में डील के मुताबिक सिंघानिया और उनके बेटे गौतम, वीना देवी जो सिंघानिया के भाई की विधवा है और उनके बेटे अनंत तथा अक्षयपत को पांच हजार एक सौ पचासी स्क्वायर फ़ीट का एक एक ड्यूप्लेक्स मिलना तय हुआ था.

बता दे कि इन सबके लिए उन्हें नौ हजार प्रति वर्ग फ़ीट की कीमत चुकानी थी. गौरतलब है, कि इस अपार्टमेंट के लिए वीना देवी और सिंघानिया के बेटे अनंत ने पहले से ही अपनी याचिका दायर कर रखी है. इसके इलावा अक्षयपत ने बॉम्बे हाई कोर्ट में एक अलग याचिका दायर की है. आपको बता दे कि विजयपत ने खुद को मुकेश अम्बानी से बड़ा दिखाने के लिए ये जेके हाउस बनवाया था और इसे बनवाने के बाद वो चर्चा में भी आ गए थे.

बरहलाल यही वजह है कि इनकी रहीसियत के चर्चे दुनिया भर में मशहूर है. मगर ये इस तरह अर्श से फर्श तक पहुँच जाएंगे ये किसी ने भी नहीं सोचा था.