fbpx

बड़ी खबर: केंद्र सरकार ने पूरे देश में जारी किए ये दो नियम, आज ही जान लें वरना पछताएँगे

आज हम आपको एक बेहद ही जरूरी सूचना बताने जा रहे हैं जो की आपके कम की है। जी हाँ दरअसल केंद्र सरकार ने 1 जून यानि की कल से ही कुछ नए नियम लागू कर चुकी है जिसके बारे मे जानना बेहद जरूरी है। जानकारी के अनुसार बताते चलें की केंद्र सरकार ने पासपोर्ट और आधार को लेकर नए नियम बनाए हैं। जिसमे बताया जा रहा है की विदेश मंत्रालय एक और कैटेगिरी में पासपोर्ट को लॉन्च करेगा और इसके साथ ही अब पते के प्रूफ के तौर पर इसका प्रयोग नहीं किया जा सकेगा।

इस नियम के अनुसार विदेश मंत्रालय ने अपन्नी एक गाइडलाइन जारी की है जिसमे साफ तौर पर खा गया है की अब पासपोर्ट की बुकलेट पर आखिरी पन्ने पर पते की डिटेल्स नहीं होगी वहीं इसके स्थान पर एक बारकोड होगा, जिसको स्कैन करके अधिकारी को जानकारी मिल जाएगी। वैसे आपको बता दें की ये डिटेल्स पासपोर्ट बुकलेट की नई सीरिज पर होगी। जब तक रीजनल पासपोर्ट ऑफिस के पास पुरानी बुकलेट का स्टॉक मौजूद रहेगा, तब तक आखिरी पन्ने पर पता लिखा जाएगा लेकिन यह अब पते के प्रूफ के तौर पर इसका प्रयोग नहीं किया जा सकेगा।

वहीं ये भी बताया गया है की आज के बाद से अब किसी को भी आधार पर लिखे अपने 12 अंकों का आधार नंबर देने की जरूरत नहीं है। क्यूंकी इसकी जगह एक वर्चुअल नंबर जनरेट कर सकेंगे, जिससे आप किसी भी तरह का सरकारी वैरीफिकेशन करा सकेंगे। सरकार ये नियम इसलिए ल रही है क्यूंकी अगर अप किसी को अपना आधार नंबर देते है तो उससे आपकी पर्सनल इन्फॉर्मेशन उजागर होने का खतरा रहता था।

आप घर बैठे मात्र आसान से तीन स्टेप्स को फॉलो करके अपना 16 अंकों वाला वर्चुअल आधार नंबर जेनरेट कर सकेंगे। हालांकि आधार ने वर्चुअल आईडी के लिए समय सीमा 1 महीने बढ़ाकर 1 जुलाई कर दिया है। अब आप सोच रहे होंगे इस वर्चुअल आईडी के लिए वर्चुअल नंबर कैसे जेनेरेट करे तो आपको बता दे की इसके लिए आपको कुछ स्टेप फॉलो करने होंगे।

तो आइये जानते हैं क्या है वो स्टेप,  कैसे जेनेरेट करें अपना वर्चुअल आधार नंबर

सबसे पहले तो आप आधार की वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाएँ उसके बाद आप देखेंगे की होम पेज पर नीचे की तरफ आधार सर्विस टैब के अंदर वीआईडी जेनरेटर ऑप्शन दिखेगा उस पर क्लिक करते ही आपको अपना आधार नंबर, कैप्चा कोड फीड करना होगा और इसके बाद आपको सेंड ओटीपी पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी कोड आएगा।

ये सभी प्रक्रिया पूरा करने के बाद आपको दो तरह के ऑप्शन दिखेंगे। पहला नई वीआईडी जेनरेट करने के लिए और दूसरा पहले से जेनरेट की गई वीआईडी को रिट्राइव करने के लिए। इन दोनों मे से आपको किसी भी एक ऑप्शन पर क्लिक करन होगा इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वीआईडी कोड एसएमएस के जरिए पहुंच जाएगा।

इन नियमो को अपनाकर आप भी घर बैठे अपना वर्चुअल आधार नंबर जेनेरेट कर सकते हैं तो अब आप भी इस प्रक्रिया को पूरा कर लें।  और अपना वर्चुअल आधार नंबर जेनेरेट कर लें।