हनुमान मंदिर में जाते समय भूलकर भी ना करे ये 5 काम, लगता हैं महापाप

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं. हिन्दू धर्म में हर देवी देवताओं के लिए अलग अलग दिन निर्धारित किए गए हैं. जैसे सोमवार का दिन शिवजी को समर्पित हैं, बुधवार गणेश जी की पूजा होती हैं, वहीँ शुक्रवार लक्ष्मी जी की तो शनिवार शनिदेव की आरधना की जाती हैं. ठीक इसी प्रकार मंगलवार का दिन हनुमान जी को समर्पित किया गया हैं. हनुमान जी भक्तों की रक्षा करने और उनके दुःख तकलीफों को दूर करने के लिए जाने जाते हैं. ऐसे में हर कोई इन्हें मनाने के लिए अपने अपने तरीके से कोशिश करता रहता हैं. इसी कड़ी में भक्तजन हर मंगलवार हनुमान जी के मंदिर अवश्य जाते हैं.

हर मंगलवार हनुमान मंदिर जाकर दर्शन करने और पूजा आराधना करने के कई सारे फायदे होते हैं. मंदिर जाने से आपका दिमाग भी रिलेक्स हो जाता हैं और आपके अन्दर एक सकारात्मक उर्जा आती हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि जब आप किसी भी हनुमान मंदिर में जाते हैं तो आपको कुछ ख़ास बातों का ख्याल रखना होता हैं. दरअसल शास्त्रों की माने तो हनुमान मंदिर के अन्दर भूलकर भी कुछ विशेष काम नहीं करना चाहिए. यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको महापाप लगता हैं. इतना ही नहीं यदि हनुमान जी आपके इस काम की वजह से नाराज़ हो गए तो आपके साथ कुछ बुरा भी हो सकता हैं. तो चलिए जानते हैं कि हनुमान मंदिर में हमें किन किन बातों का ख्याल रखना चाहिए.

1. हनुमान मंदिर में कभी भी बुरे विचार या हिन भावना लेकर प्रवेश नहीं करना चाहिए. मंदिर का माहोल आमतौर पर सकारात्मक होता हैं ऐसे में जब कोई व्यक्ति मन में बुरे विचार या गलत ख्याल लेकर प्रवेश करता हैं तो माहोल में नेगेटिविटी फैलती हैं. हनुमान जी को ऐसा बिलकुल पसंद नहीं हैं. ऐसे में वो आप से नाराज़ भी हो सकते हैं.

2. हनुमाना मंदिर एक पवित्र जगह होती हैं. ऐसे में मंदिर के अन्दर किसी भी महिला को गलत नज़रों से देखना सरासर घोर पाप की श्रेणी में आता हैं. जैसा कि आप सभी जानते हैं हनुमान जी खुद एक बाल ब्रह्मचारी थे ऐसे में उन्हें इस तरह की भावनाएं और गलत ख्याल अपने मंदिर में पसंद नहीं आते हैं. जो व्यक्ति मंदिर के अन्दर ऐसे ख्याल लाता हैं उन्हें हनुमाना जी किसी ना किसी रूप में सजा भी दे देते हैं.

3. हनुमान मंदिर के अन्दर अपशब्दों का प्रयोग भी नहीं करना चाहिए. कई लोगो की आदत होती हैं कि वो गुस्से में या फिर हंसी मजाक और मस्ती में अपशब्दों का प्रयोग करते हैं. ऐसे में जब वे मंदिर में प्रवेश करते हैं तो वहां उनका अपनी जुबान पर कंट्रोल नहीं रहता हैं और मुंह से अपशब्द निकल आते हैं. ऐसा करना आपके लिए काफी बुरा हो सकता हैं. मंदिर में कहे अपशब्द काफी नेहेतिविटी फैलाते हैं जो हनुमान जी को रास नहीं आता हैं.

4. हनुमान मंदिर के अन्दर लड़ाई झगड़ा भी करने से बचना चाहिए. यहाँ आप किसी से कोई अनबन ना करे. हनुमान जी को शान्ति पसंद हैं. ऐसे में शोर शराबा और लड़ाई झगड़े से मंदिर का माहोल बिगड़ता हैं.

5. हनुमान मंदिर के अन्दर चमड़े से बनी कोई भी चीज लेकर प्रवेश नहीं करना चाहिए. जूते चप्पल तो हम लोग बाहर उतार देते हैं लेकिन चमड़े के बने बेल्ट, पर्स या जैकेट जैसी चीजें भी हनुमान मंदिर में नहीं ले जाना चाहिए.