यदि आपके मोबाइल पर भी आता हैं अंजान लड़की का कॉल तो हो जाए सावधान, पड़ सकते हैं इस मुसीबत में

दोस्तों आज के जमाने में हर लड़के की इच्छा होती हैं कि उसकी किसी लड़की से दोस्ती हो जाए. लेकिन अफ़सोस की हर लड़के का ये सपना पूरा नहीं हो पाता हैं. आज के जमाने में कम्पीटीशन इतना अधिक हैं कि हर लड़के को इतने आसानी से महिला दोस्त नहीं मिल पाती हैं. ऐसे में ये सिंगल लड़के हर समय इसी फ़िराक में रहते हैं कि कहीं ना कहीं से किसी तरह कोई जुगाड़ हो जाए और उनकी दोस्ती किसी अच्छी सी लड़की से हो जाए.

यही बात कुछ ठग लोग अच्छे से जानते हैं. इसी बात का फायदा उठाकर ये ठग कई लड़को को लूट लेते हैं. लड़की के नाम पर लड़को से ठगी करने वाला ऐसा ही एक गिरोह इन दिनों उत्तर प्रदेश के देहरादून में सक्रीय हैं. दरअसल यहाँ लड़को को किसी अंजान लड़की से कॉल आ रहे हैं कि वे कुछ पैसो के बदले में उनकी दोस्ती हाईप्रोफाइल लड़कियों से करा देंगे. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…

दरअसल देहरादून पुलिस की साइबर सेल को इन दिनों काफी शिकायतें मिल रही हैं. उन्हें लड़कियों की चालबाजी को लेकर काफी कॉल आ रहे हैं. देहरादून में सक्रीय लड़कियों का यह ग्रुप युवको को हाईप्रोफाइल की लड़कियों से दोस्ती कराने के नाम पर बड़े पैमाने पर ठग रहा हैं. इसी कड़ी में देहरादून के एक युवक के पास एक अंजान लड़की का फोन कॉल आया था. उस लड़की ने युवक को एक फ्रेंडशिप क्लब के बारे में बताया. लड़की ने कहा कि यदि युवक इस फ्रेंडशिप क्लब की मेम्बरशिप ले लेता हैं तो वो उसकी दोस्ती कई हाई क्लास सोसाइटी की लड़कियों और कॉलेज की युवतियों से करवा देगी.

युवक इस अंजान लड़की के बहकावे में आ गया और उसने मेम्बरशिप लेने के लिए चार हजार तीन सौ रुपए ऑनलाइन ही जमा करा दिए. हालाँकि जब युवक ने बाद में लड़कियों से दोस्तों बावत उस अंजान लड़की को कॉल किया तो उसका फोन बंद आया. इसके बाद खुद को ठगा महसूस किए युवक ने इसकी शिकायत पुलिस को की जिसके बाद ये मामला साइबर सेल तक जा पहुंचा.

जब पुलिस की टीम ने इन नंबरों की जांच की तो वे सारे फर्जी निकले. इतना ही नहीं अंजान लड़की द्वारा बताए गए पते भी नकली निकले. पुलिस के अनुसार लड़कियों से दोस्ती के नाम से ठगी करने वाला ये गिरोह काफी सक्रीय हैं. ये युवको को जाल में फांस कर उनसे दो से दस हजार रुपए तक ले लेता हैं. कई बार इस तरह की ठगी से बदनामी होने के डर से लोग शिकायत भी नहीं करते हैं. ऐसे में इस गिरोह की ताकत और भी बढ़ जाती हैं और ये ज्यादा लोगो को अपना शिकार बनाने लगते हैं.

साइबर सेल की टीम इस गिरोह का पता लगाने में जुटी हुई हैं. उन्होंने अपनी टीम को ये आदेश दिए हैं कि वे उन बैंक अकाउंट के जरिए ठगों का पता लगाए जिसमे पीड़ित लोगो ने पैसे जमा किए थे. साथ ही इस मामले को लेकर पुलिस ने अपने मुखबिरों को भी सक्रीय कर दिया हैं. यदि आपके पास भी लड़कियों से दोस्ती कराने के नाम पर कोई पैसे लेता हैं तो उसके जाल में ना फसे.