थायराइड मरीज भूल से भी इन चीजों पर न करें विश्वास, लाभ की जगह होगा नुकसान

ये बात तो हम अच्छे से जानते हैं कि हममें से आधे से ज्यादा लोग ऐसे हैं जो अपने स्वास्थ को लेकर काफी परेशान रहते हैं और हो भी क्यों न भला इस बदलती लाइफ स्टाइल और भागदौड़ में व्यक्ति को खाना तो दूर चैन से सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है। आज हम आपको एक ऐसी बिमारी के बारे में बताएंगे जिससे लगभग आधे से ज्यादा लोग ग्रसित हो गए हैं। जी हां वैसे तो इस बिमारी को लोग सामान्य बिमारी मानते हैं लेकिन अगर इनपर ध्यान न दिया जाए तो ये कई सारी परेशानियां भी उत्पन्न कर देती है।

थायराइड की समस्‍या होने पर आपको खुद की देखभाल के प्रयास करने होते है, ऐसे में अपने उत्‍कृष्‍ट स्‍वास्‍थ्‍य को बनाये रखने के लिए आप हर संभव प्रयास करके खुद को शीर्ष स्थिति में ले आते हैं। लेकिन हम अक्‍सर ऐसे कारकों के बारे में सुनते हैं, जो एक व्‍यक्ति को थायराइड से ग्रस्‍त होने पर कभी नहीं करने चाहिए। आइए ऐसे की 7 कारक के बारे में जानते हैं।

बता दें कि दुनिया भर में ऐसे कई लोग हैं जो थायराइड जैसी समस्या से जूझ रहे हैं और आए दिन अच्‍छा महसूस कराने और थायराइड के बारे में समझने की कोशिश को लेकर संघर्ष कर रहे हैं। हममें से कई तो इंटरनेट का सहारा भी लेते हैं लेकिन पूरी तरह से अध्‍ययन पर विश्‍वास करना सही नहीं है।

थायराइड के मरीज के बारे में थायराइड के बारे में अधिक जानकारी यहां वहां से लेने लगते हैं जिसके चलते कई बार वह गलत जानकारी से परेशान होने लगते हैं। पर क्या आपको पता है कि थायराइड के मरीजों के लिए सबसे ज्यादा जरूरी ये है कि डॉक्‍टर को अपना सबसे अच्‍छा दोस्‍त मानना चाहिए और इस विषय में कोई भी जानकारी अपने डॉक्‍टर से लेनी चाहिए।

आज के समय में थायरायड की समस्‍या का निदान होने के बाद हममें से कई लोग ऐसे हैं जो किसी भी प्रकार के दर्द या अन्‍य लक्षण को थायराइड से संबंधित होने की कल्‍पना करने लग जाते हैं। उन्‍हें लगता हैं कि यह सारे लक्षण थायराइड के कारण हो रहे हैं जबकि उन्‍हें ऐसा नहीं करना चाहिए।

जानकारी के लिए बता दें कि सिगरेट में मौजूद कई ऐसे तरह के तत्व होते हैं जो थायराइड के लिए विशेष रूप से हानिकारक होते हैं। धूम्रपान से थायराइड नेत्र रोग के विकास की संभावना बढ़ जाती है, और धूम्रपान थायरॉयड नेत्र रोग के उपचार को कम प्रभावी बनाता है। इसके अलावा ये भी बता दें कि कई लोगों ने ऐसा कहा है कि मेरी थायराइड की रिपोर्ट नार्मल थी लेकिन मुझे अभी भी लगता है कि मुझे थायराइड की समस्‍या है।

अक्‍सर थायराइड रोगियों की रिपोर्ट सही होती है लेकिन फिर भी उन्‍हें लगता है कि वह बीमार है जो की सही नहीं है। अक्सर थायराइड मरीजों को ये लगता है सभी प्रकार के प्राकृतिक और उपलब्‍ध ओवर-द-काउंटर लेबल प्रोडक्‍ट उनके लिए अच्‍छे होते हैं। लेकिन यह थायराइड मरीजों के लिए सही नहीं होता। कई प्रकार की “थायराइड समर्थन” सप्‍लीमेंट आयोडीन से भरपूर होते हैं।

यह भी पढ़ें :

थायरॉइड के कारण अगर बढ़ रहा है वजन तो इस उपाय से दोनों हो जायेंगे दूर, मात्र 15 दिनों में ही दिखने लगेगा असर