भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 से मुकाबला करने आई थी पाक की एफ-16, इसके बाद हुआ ऐसा

हममें से हर कोई ये जान गया है कि आज सुबह भारतीय वायु सेना ने 14 फरवरी की शाम हुए पुलवामा अटैक में शहीद हुए जवानों का बदला ले लिया। जी हां आपको बता दें कि पुलवामा में पाकिस्तान के टेररिस्ट संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए हमले में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। आपको बता दें कि इस घटना के बाद देशभर के लोगों का बस यही एक सपना था कि सरकार जल्द से जल्द इस शहादत का बदला ले।

जिसके बाद पीएम मोदी ने भी भारतीय सेना को खुली छूट दे दी कि वो इस शहादत का बदला ले सके। जी हां और हमारे जाबांजों ने ऐसा करके दिखा भी दिया दरअसल आज सुबह भारतीय वायुसेना पाकिस्तान के भीतर रात करीब साढ़े तीन बजे टेररिस्टों के कई ठिकानों पर हवाई अटैक किए और इस कार्रवाई को लड़ाकू विमानों मिराज-2000 से अंजाम दिया गया। भारतीय वायुसेना ने ये सर्जिकल स्ट्राइक आज सुबह 03.30 बजे की।

बताया जा रहा है कि भारतीय वायुसेना ने इस अटैक के लिए मिराज जेट का प्रयोग किया और इनके द्वारा नष्ट किए गए लक्ष्यों में से एक पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र में था। पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र में हवाई हमले जमीनी खुफिया स्रोतों के द्वारा जानकारी हासिल किए गए थें। इतना ही नहीं ये भी बता दें कि इस अटैक में पाकिस्तानी फाइटर जेट एफ 16 को भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 के खिलाफ जवाबी कार्रवाई के लिए उतारा गया था, लेकिन आपको जानकर खुशी होगी की मिराज 2000 के आगे एफ 16 ने भी घुटने टेक दिए और वो वापस लौट गया। वेस्टर्न एयर कमांड ने ऑपरेशन का समन्वय किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बता दें कि इस पूरे ऑपरेशन को वायुसेना ने महज 40 मिनट में कामयाब किया और सभी फाइटर जेट वापस लौट आए। वायुसेना के मिराज 2000 ने मुजफ्फराबाद, बालाकोट, चकोटी, गढ़ी हबीबुल्लाह के आतंकी अड्डों के अलावा खैबर पख्तूनख्वा में मौजूद अड्डों पर भी एयर स्ट्राइक की। जिसमें सेना ने इन जगहों पर अटैक करने के लिए लेजर गाइडेड बम का इस्तेमाल किया और मिराज 2000 ने एक हजार किलो के 10 बम गिराए। इस ऑपरेशन के बाद पाकिस्तानी सेना ने माना है कि भारतीय वायुसेना पीओके में दाखिल हुई है, इतना ही नहीं पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने ये भी दावा किया कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने लाइन ऑफ कंट्रोल का उल्लंघन किया है।

अगर आपको याद होगा तो पुलवामा में हुए अटैक के बाद पीएम मोदी ने कहा था, शहादत का बदला लेने के लिए सुरक्षाबलों को छूट दी गई है। न्होंने कहा था कि हमले से पूरे देश में आक्रोश है, इस समय लोगों का खून खौल रहा है। लेकिन देश की जनता को सेना के शौर्य पर पूरा भरोसा है। गुनहगारों को उनके किए की सजा अवश्य मिलेगी। भारत आ’तंक के खिलाफ अपनी लड़ाई को और भी तेज करेगा।