इस बार की महाशिवरात्रि है कुछ खास, वर्षों बाद बन रहा है शुभ व दुर्लभ संयोग, जानिए क्या करें इस दिन

भगवान शिव के विवाह का दिन फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को माना जाता है। शिवपुराण में इस चतुर्दशी को महाशिवरात्रि कहा गया है। इस शिवरात्रि में महा इसलिए लगा है क्योंकि शिवरात्रि तो हर महीने में एक बार आती है लेकिन फाल्गुन मास की शिवरात्रि साल में केवल एक बार आती है। महाशिवरात्रि का महत्व इसलिए है क्योंति यह शिव और शक्ति की मिलन की रात है। आध्यात्मिक रूप से इसे प्रकृति और पुरुष के मिलन की रात के रूप में बताया जाता है।

इस रात में आध्यात्मिक शक्तियां अधिक जागृत होती हैं इसलिए शास्त्रों में कहा गया है कि इस रात का उपयोग ध्यान, योग, तप और साधना में करना चाहिए। इस वर्ष महाशिवरात्रि 4 मार्च को है। इस अवसर पर कई दुर्लभ संयोग बने हैं ऐसे में इसदिन का महत्व और बढ़ गया है ।इस साल महाशिवरात्रि सोमवार के दिन है जिसे बड़ा ही दुर्लभ माना जाता है। सोमवार का संबंध भगवान शिव और उनके सिर पर विराजमान चंद्रमा से है इसलिए इन्हें सोमनाथ भी कहते हैं। महाशिवरात्रि पर सोमवार होना शिवभक्तों के लिए बहुत ही शुभ है। वर्ष 2019 में शिवरात्रि के दिन  सोमवार होने के साथ-साथ त्रयोदशी व चतुर्दशी का संयोग बन रहा है।

कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को ‘प्रदोष’ होता है। 4 मार्च को उदयकालीन तिथि त्रयोदशी एवं रात्रिकालीन तिथि चतुर्दशी रहेगी। चूंकि 4 मार्च को त्रयोदशी तिथि प्रदोषकाल से पूर्व ही समाप्त हो रही है इसलिए ‘प्रदोष व्रत’ 3 मार्च को रहेगा किंतु उदयकालीन तिथि की मान्यता के अनुसार 4 मार्च को त्रयोदशी व चतुर्दशी तिथि का संयोग रहेगा जो अत्यंत शुभ है एवं वर्षों बाद ऐसा दुर्लभ संयोग बनता है।

महाशिवरात्रि पर क्या करें-

#महाशिवरात्रि पर बन रहे इस शुभ व दुर्लभ संयोग में भगवान शिव का दुग्धाभिषेक, रसाभिषेक एवं जलाभिषेक करना पुण्यप्रद रहता है। जो व्यक्ति ऋण से ग्रस्त हैं उन्हें इस शुभ संयोग में शिवलिंग पर मसूर चढ़ाने से कर्ज से मुक्ति प्राप्त होने लगती है।

#जो व्यक्ति आर्थिक संकटों से पीड़ित हैं उन्हें इस शुभ संयोग में भगवान शिव का फलों के रस से अभिषेक करना लाभप्रद रहेगा। भगवान शिव का रसाभिषेक करने से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। जो व्यक्ति मोक्ष के आकांक्षी है उन्हें महाशिवरात्रि पर बने इस शुभ संयोग में भगवान आशुतोष का गाय के दूध से दुग्धाभिषेक करना मोक्षदायक रहेगा।

# आप सभी को बता दें कि अगर आप अपनी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति करवाना चाहते हैं तो महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा करते समय ऊँ महाशिवाय सोमाय नमः मंत्र का जाप करें| कहते हैं अगर आप ऐसा करते हैं तोआपके घर से कलह – क्लेश चला जाता है और इसी के साथ शिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर गाय का दूध अर्पित करने से घर में कलह से मुक्ति हो जाती.

# कहते हैं अगर आप नौकरी या अपने व्यवसाय को लेकर परेशान चल रहे हैं तो शिवरात्रि पर भगवान शिव पर शहद अवश्य चढाएं क्योंकि इससे नौकरी या व्यवसाय में आ रही बाधाएं दूर हों जाएंगी और आपको लाभ ही लाभ होगा.

# कहते हैं अगर आप अपने वैवाहिक जीवन को सुखी बनाना चाहते हैं और आर्थिक परेशानियों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो शिवरात्रि पर भगवान शिव को लाल चंदन अर्पित करें क्योंकि ऐस करने से आपको बहुत लाभ होगा और कपल के बीच केवल प्यार रहेगा.