भारत से डरा पाकिस्तान, युद्ध हालत के बीच पाक सेना शांतिपूर्ण बातचीत के लिए गीड़गिड़ाई

भारत के द्वारा 26 फरवरी को पाकिस्तान में घुसकर की जाने वाली एयरस्ट्राइक ने भारत – पाक के बीच हालत तनाव वाले पैदा कर दिए हैं. कल जब इंडियन एयरफ़ोर्स के विमान सुबह 3:30 बजे पाकिस्तान में घुस जैश के ठिकानो को तबाह कर के आए थे तो उसे बाद से ही पाकिस्तान बौखला गया था. उसने कल दोपहर से ही सीमा पार से फायरिंग करना शुरू कर दिया था. फिर रात तक तो सीमा पर युद्ध जैसे हालात भी पैदा हो गए थे. अभी तक इंडियन आर्मी में पाकिस्तान के 5 कैम्पस नष्ट किए हैं जिसमे पाकिस्तान के 6 सैनिक भी ख़त्म हुए. फिर आज 27 फरवरी को पाकिस्तान का F16 विमान भरात में घुसपैठ करने लगा था. जब इस बात का पता इंडियन एयरफोर्स को लगा तो उन्होंने जवाबी कारवाई की और इस पाकिस्तानी फाइटर प्लेन को मार गिराया.

इस बीच जम्मू कश्मीर के बडगाम में इंडियन एयरफ़ोर्स का एक हैलिकाफ्टर भी तकनिकी खराबी की वजह से क्रेश हुआ हैं. तो ऐसे में उधर पाकिस्तान की सेना ये दावा करने लगी थी कि उन्होंने दो भारतीय विमानों को गिराया हैं और यहाँ तक कि एक इंडियन पायलट को गिरफ्तार भी किया हैं. हालाँकि हमारी इंडियन एयरफोर्स से उसके इस दावे के बेबुनियाद बताया हैं. उनकी जानकारी के मुताबिक इंडियन एयरफ़ोर्स का कोई पायलट मिसिंग नहीं हैं. इतना ही नहीं पाकिस्तान आर्मी के प्रवक्ता असीफ गुफुर ने ट्वीट कर इस दावे के साथ कुछ तस्वीरें भी शेयर की थी. वहीँ पाकिस्तानी मीडिया भी इस दावे के कुछ विडियो शेयर कर चूका हैं. लेकिन बाद में पाकिस्तान की पोल खुल गई. उसने भारतीय विमानों को गिराने के बारे में झूठ बोला था. जो तस्वीर और विडियो पाकिस्तान ने साबूत के तौर पर दिखाए थे वे 2016 में हुए एक प्लेन क्रेश के थे.

इस तरह आप समझ सकते हैं कि कैसे दोनों ही देशों में तनाव का माहोल हैं. दोनों ही तरफ कई हाई लेवल मीटिंग्स भी चल रही हैं. लेकिन इन सब के बीच पाकिस्तानी सेना ने बड़ा यूटर्न लेते हुए भारत को बातचीत का ऑफर दिया हैं. बड़े बड़े दावे करने वाली पाकिस्तानी सेना अब भारत से बातचीत को गिडगिड़ा रही हैं. हाल ही में उनके सेने के प्रवक्ता मेजर ने मीडिया को बयान देते हुए कहा हैं कि इस मसले का हल युद्ध नहीं बल्कि बातचीत से निकलेगा. उन्होंने कहा कि युद्ध शुरू करना तो आसान हैं लेकिन ख़त्म करना मुश्किल हैं.

पाकिस्तान की इस तरह की बयानबाजी यही साबित करती हैं कि वो भारत से डरा हुआ हैं. उसे मालूम हैं कि दोनों देशो में युद्ध के हालात बन रहे हैं. और यदि भारत पाकिस्तान के मध्य युद्ध होता हैं तो पाकिस्तान के टिकने के चांस बहुत कम हैं. उसकी सेना में इतना दम नहीं कि वो भारत को हरा सके. इस बात का साबूत हम भारत पाक की पिछली तीन जंगों में देख चुके हैं. बस यही वजह हैं कि पाकिस्तान बा सेफ मोड में जाना चाहता हैं और अपनी हार की शर्मिंदगी से बचना चाहता हैं.

अब देखना ये होगा कि क्या भारत पाकिस्तान के इस बातचीत के ऑफर को स्वीकार करता हैं या फिर युद्ध करने का फैसला करता हैं.