अजब गजब : एक ऐसा बैल जो एक दो बार नहीं बल्कि सात बार जा चूका है जेल, इस बैल की कीमत जान उड़ जायेंगे होश

आज कल की दुनिया में इंसानों के जेल जाने की बात तो हजम हो जाती है लेकिन एक जानवर भी कोई अपराध करके जेल जा सकता है इस बात पर यकीन करना पहले तो वाकई में थोड़ा मुश्किल है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की एक ऐस अभी बैल है जो एक दो बार नहीं बल्कि आजतक कुल सात बार जेल जा चूका है। आईये आपको बताते हैं की आखिर एक बैल के जेल जाने के पीछे क्या है पूरा मामला और क्या है इस घटना के पीछे की सच्चाई।

मध्यप्रदेश के भोपाल का है मामला

आपको बता दें की जिस बैल के जेल जाने की बात हम कर रहे हैं वो घटना दरअसल मध्यप्रदेश के भोपाल का है जहाँ एक बैल ने अपने जन्म स्थान पर दावा किया है। आपको जानकर बेहद आश्चर्य होगा की इस बात की जानकारी नगर निगम से लेकर मुख्यमंत्री हेल्पलाइन तक पहुंच चुकी हैं सब बैल के अपने जन्म स्थान पर दावा करने की बात से ख़ासा हैरान हैं। बैल के बार बार अपने जन्म स्थान पर आजाने की वजह से अधिकारीयों को बहुत ही मुसीबत का सामना करना पड़ रह अतः जिससे परेशान होकर उन्होनें इस बैल को भोपाल के कांजी घर में सात दिनों तक रखा लेकिन इसके वाबजूद भी इस समस्या का कोई हल नहीं निकल पाया। इधर बैल के मालिक का कहना है की कोई उन्हें भले ही करोड़ों रूपये ही क्यों ना दे दे लेकिन वो इस बैल को पाने आप से दूर नहीं होने देंगे।

एक बैल को बनाया गया प्रतिष्ठा की वजह

बता दें की ये बैल अपना जन्म स्थान बता जिस जगह पर बार बार चला जाता था वो जगह एक मंदिर का प्रांगण है जिसके पुजारी ने इस बैल की शिकायत पुलिस और नागर निगम अधिकारीयों से की थी। पूजैर की शिकायत के बाद ही इस बैल को कई बार कांजी हाउस में भी रखा गया है लेकिन हर बार इसका मालिक इस वहां से छुड़ा का ले जाता है। बैल के मालिक का कहना है की चूँकि इस बैल का जन्म उस मंदिर के प्रांगण में हुआ था इसलिए वहां उस बैल भी हक़ बनता है लकिन मंदिर पुजारी का कहना है की बैल के वहां आजाने से कई सारे कार्यों में बाधा आती है और लोग दर्शन तक ठीक से नहीं कर पाते। बैल के मालिक ने कहा है की जिस जगह पर आज ये मंदिर का प्रांगण है वहां आज से करीबन दस साल पहले एक गोशाला थी और इस बैल का जन्म वही हुआ था इसलिए इसे यहीं बंधा जायेगा क्यूंकि इस जगह पर बैल का भी बराबर का हक़ है ये उसका जन्मस्थान है। इधर पुजारी का कहना है की बैल को जानभूझकर जिद में आकर इस जगह पर बाँध दिया जाता है जो की बहुत ही गलत है। फिलहाल प्रसाशन इस मामले की जांच कर रही है और जल्द ही कोई ना कोई हल निकल आएगा।