सुनसान जगह पर बेटे की मिली कार के अंदर का नजारा देख पिता रह गए दंग, आखिर ऐसा क्या था कार के अंदर

किसी भी पिता के लिए उसके बेटे की सुरक्षा सबसे बढ़कर होती है. अगर बच्चों एक साथ कुछ हो जाए तो सबसे पहले परेशान होने वाला शख्स और कोई नहीं बल्कि एक पिता ही होता है. बच्चे इस बात को समझ पाते हैं की कितनी मुश्किलों के बाद उनके माता पिता उन्हें पाल पोश कर बड़ा करते हैं. आज हम आपको एक ऐसे ही वाकये के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ एक पिता ने भी अपने बेटे के लिए कभी बुरा नहीं चाहा था लेकिन बेटे ने कुछ ऐसा किया जिसके बाद पिता का सारा गुरूर टूट कर चकनाचूर होगया. आईये आपको बताते हैं की आखिर क्या है ये पूरे मामला.

ये है पूरा मामला

आपको बता दें की ते दिनों सीमान्त जैन नाम के एक लड़के ने कीटनाशक दवाई खाकर अपने ससुराल से लौटते वक़्त आत्महत्या कर ली. लड़का जिस समय अपने ससुराल से वापिस लौट रहा था उस वक़्त उसके साथ उसकी पत्नी और बच्चे के अलावा उसके पिता भी थे. ये घटना रायपुर के नवा पारा की है जहाँ बीते दिनों एक फैमिली फंक्शन को अटेंड करने सीमान्त अपने पति बच्चों और पिता सहित अपने ससुराल गया था. फंक्शन ख़त्म होने के बाद वपिस लौटते वक़्त सीमान्त ने रास्ते में ही किसी दूकान से कीटनाशक दवाई खा करके आत्महत्या कर ली. सीमान्त जैन ने जिस वक्र आत्महत्या की उस वक़्त वो गाड़ी में बिल्कुल अकेला था और किसी को अंदाजा भी नहीं था की वो ऐसा भी कुछ कर सकता है. इस घटना के बाद सीमान्त के पिता सहित उसके बीवी और बच्चे भी काफी दुखी हैं किसी को समझ नहीं आ रहा है क आखिर उनसे इतना बड़ा कदम उठाया क्यूँ जबकि वो अपनी कार में अकेला था और रास्ते में उसने अपनी बीवी और बच्चों को अपने पिता की गाड़ी में बेह्ज दिया था.

इसे बताई जा रही है आत्महत्या की वजह

आपको जानकर हैरानी होगी की सीमान्त जैन की मौत के पीछे कहीं न अकहीं कारण उनकी पत्नी थी. बता दें की अपने ससुराल आये सीमान्त वापिसी के वक़्त अपनी बीवी और बच्चों के साथ एक अलग कार में था और पीछे से दूसरी कार में उसके पिता आ रहे थे. समान्त के बच्चों के बताया की रास्ते में उसके पिता की उसके माँ से किसी बात पर लड़ाई होगयी जिसके बाद सीमान्त ने पहले बच्चों को अपनी गाड़ी से उतार कर अपने पिता की कार में भेज दिया और बीवी के साथ कुछ और आगे तक गया लेकिन दोनों के बीच बात इतनी बढ़ गयी थी की उसने अपनी बीवी को भी रस्ते में कार से उतार दिया. इसके बाद पीछे से सीमान्त के पिता जिस कार में बच्चों के साथ आ रहे थे उन्होनें जब देखा की बहु बीच रास्ते खड़ी है तो उन्होनें उसे भी अपनी कार में बिठा लिया. वो लोग जैसे ही कुछ दूर आगे बढे तो रास्ते में एक जगह उन्हें सीमान्त की कार दिखाई दी. सीम्नत के पिता अपनी कार रोककर जाकर बेटे की कार में देखने लगे की आखिर वो यहाँ रुका क्यूँ है, सीमान्त के पिता ने जब कार के अंदर देखा तो उनके होश उड़ गए. सीमान्त ने आत्महत्या करने की कोशिश की थी और उसकी हालत काफी ख़राब थी, आनन फानन में उसे नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहाँ उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.