जलती चिता से उठ कर बैठ गया युवक और फिर जो हुआ वो देख कर लोग रह गए हैरान

वैसे तो आपने मरे हुए लोगो और श्मशान घाट को लेकर बहुत सी डरावनी कहानियां सुनी होंगी, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी सच्ची खबर से रूबरू करवाने वाले है, जिसके बारे में जान कर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि यह खबर उत्तर प्रदेश के वाराणसी की है. जहाँ एक मुर्दे को चिता पर लिटाया गया था और उसे मुख अग्नि बस दी ही जाने वाली थी, कि वह अचानक ही जिन्दा हो गया. जी हां यक़ीनन ये खबर पढ़ कर आपको भी हैरानी हो रही होगी लेकिन ये सच है. अब जाहिर सी बात है कि जब वहां मौजूद लोगो ने ये नजारा देखा तो उनके होश ही उड़ गए और इसके बाद चारो तरफ हंगामा मच गया.

आपको जान कर ताज्जुब होगा कि जब लड़का चिता से उठा तो उसने लोगो से कहा कि यमराज के यहाँ तो अभी काफी लम्बी लाइन लगी है. इसलिए उसे फ़िलहाल अस्पताल ले जाया जाए. ऐसे में कुछ लोग तो इसे भूत प्रेत का मामला समझ कर काफी डर गए थे, लेकिन कुछ लोगो ने इसे चमत्कार मान लिया और फिर वो लड़के को अस्पताल ले गए. गौरतलब है कि यह युवक वाराणसी में मछरहट्टा का रहने वाला है और इसका नाम विकास कनौजिया है. दरअसल यह एक सड़क दुर्घटना में बुरी तरह से घायल हो गया था. बता दे कि इस युवक की उम्र अभी केवल बाइस साल थी.

जी हां दुर्घटना के बाद इसे पास ही के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. मगर अफ़सोस कि इलाज के दौरान ही इसकी मौत हो गई. यहाँ तक कि डॉक्टरों ने खुद पूरी जाँच पड़ताल करने के बाद ही इसे मरा हुआ घोषित किया था. जिसके बाद युवक के घर वाले उसके शव को घर ले आये थे और फिर सब लोग अंतिम संस्कार की तैयारी में जुट गए. मगर जब श्मशान घाट में युवक को चिता पर लिटाया गया, तब वो अचानक ही जिन्दा हो गया. जी हां दरअसल चिता पर लिटाने के बाद विकास के शरीर में कुछ हलचल सी होने लगी. जिसके बाद वह अचानक ही उठ कर खड़ा हो गया.

हालांकि ये बात अलग है कि जब युवक ट्रामा सेण्टर पहुंचा तो उसने दोबारा दम तोड़ दिया और फिर कभी नहीं उठा. जी हां यक़ीनन जिस औलाद को उसके माता पिता ने दो दो बार खोया हो, उसके दुःख को हम शब्दों में भी ब्यान नहीं कर सकते. अब जाहिर सी बात है कि जब युवक मरने के बाद जिन्दा हुआ, तो ये सब देख कर उसके माता पिता बेहद खुश हो गए थे. मगर उन्हें नहीं मालूम था कि ये ख़ुशी केवल पल भर की ही है. उन्हें नहीं मालूम था कि उनका बेटा जिन्दा होकर दोबारा मर जाएगा. बता दे कि इस हादसे के बाद से ही विकास के माता पिता काफी निराश है.

ऐसे में हम तो यही उम्मीद करते है कि भगवान् विकास के माता पिता को उसकी मौत का दुःख सहने की हिम्मत दे. बरहलाल हम दुआ करते है कि भगवान् युवक की आत्मा को शांति दे.