कही आप भी पैकेट वाले दूध को गर्म करने की गलती तो नहीं कर रहे, अब से हो जाईये सावधान

यूँ तो दूध पीना सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है, लेकिन आज हम आपको दूध के बारे में कुछ ऐसी जानकारी देने वाले है, जिसके बारे में जान कर आप भी हैरान रह जायेंगे. जी हां अब इसमें तो कोई दोराय नहीं कि आज कल लोग अपने घरो में पैकेट वाले दूध का इस्तेमाल ज्यादा करते है. ऐसे में आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जो पैकेट वाला दूध आप लेते है, उस दूध को पहले ही काफी तेज तापमान पर गर्म करके ठंडा किया जा चुका होता है और उसके बाद ही इस दूध को बेचा जाता है. गौरतलब है कि इससे दूध को काफी लम्बे समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है और साथ ही इससे कई हानिकारक बैक्टीरिया भी मर जाते है.

 

इसके इलावा खुला हुआ दूध इस्तेमाल करते समय कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है. यानि कई सावधानिया बरतनी पड़ती है. जैसे कि पहले दूध को छानना और फिर उसे अच्छी तरह से उबालना आदि. ऐसे में खुले दूध को पहले तेज तापमान पर रख कर उबालना पड़ता है और फिर उसे ठंडा करने के बाद ही इस्तेमाल किया जा सकता है. जी हां क्यूकि अगर ऐसा न किया जाये तो खुला दूध कुछ ही घंटो में खराब भी हो जाता है. हालांकि लोग पैकेट वाले दूध को भी उबालने से नहीं चूकते. ऐसे में लोग कई बार ये सवाल पूछते है कि क्या पैकेट वाले दूध को उबालना चाहिए या नहीं, क्या ये सही है या नहीं ?

दरअसल कई लोगो को ये गलतफहमी होती है कि दूध को प्लास्टिक के पैकेट में रखा जाता है.  ऐसे में लोग इस दूध को सीधा पैकेट से निकाल कर इसका इस्तेमाल करना सेहत के लिए हानिकारक समझते है. इसके इलावा कुछ लोग दूध को इसलिए भी गर्म करते है ताकि यह ज्यादा समय तक ठीक रह सके. मगर हम आपको बता दे कि अगर आप भी पैकेट वाले दूध के साथ ऐसा ही करते है तो ये एकदम गलत है. वो इसलिए क्यूकि पैकेट वाले दूध के बारे में ऐसा कहा जाता है कि इस दूध को उबालने की जरूरत नहीं पड़ती. यहाँ तक कि डॉक्टर्स का भी यही कहना है कि इस दूध को पहले से ही तेज तापमान पर उबाल कर रखा जाता है. ऐसे में ये दूध पूरी तरह से सेफ होता है और इसे दोबारा गर्म करने की जरूरत नहीं पड़ती.

यानि अगर हम सीधे शब्दों में कहे तो दूध कंपनी इसकी पैकिंग करने से पहले ही इस दूध को अच्छी तरह से उबाल कर और इसे कीटाणुमुक्त करके सुरक्षित जगह पर रखती है. ऐसे में अगर आप इस पैकेट वाले दूध को दोबारा गर्म करते है, तो इसके अंदर मौजूद पोषक तत्व या तो नष्ट हो जाते है या फिर एकदम कम हो जाते है. यही वजह है कि पैकेट वाले दूध को घर पर लाने के बाद उसे बार बार गर्म करने की जरूरत नहीं पड़ती है. जी हां यहाँ तक कि आप इस दूध को चार डिग्री तापमान पर सात दिनों के लिए सुरक्षित भी रख सकते है. वैसे आपने दूध खरीदते समय इस बात पर भी ध्यान जरूर दिया होगा कि पैकेट पर दूध की एक्सपायरी डेट भी लिखी होती है.

ऐसे में पैकेट पर लिखी डेट से पहले दूध खराब होने की संभावना कम ही होती है. इसलिए आगे से भूल कर भी पैकेट वाले दूध को तेज तापमान पर उबालने की गलती न करे.