फेसबुक पर एक पोस्‍ट करने से मच गया बवाल, जानें क्‍या था उसमें ऐसा

आजकल फेसबुक का बड़ा ही क्रेज छाया हुआ है हर कोई जहां देखो वहां आए दिन नए नए फोटो व वीडियो अपलोड करते रहता है। कुछ ऐसा ही हुआ हाल ही में एक जाने माने फोटोग्राफर ने कुछ ऐसी ही फोटो और वीडियो हटाने के बाद उसका अकाउंट डिलीट कर दिया जिसकी वजह से जमकर बवाल हो गया है। दरअसल हुआ ये था कि इस तस्‍वीर में उस फोटोग्राफर ने बर्थ मोमेंट को क्लिक किया था कुछ समय पहले दुनियाभर की जन्म देती। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस फोटोग्राफर का नाम मोनेट निकोल है।

दरअसल महिलाओं के प्रति इस इमोशनल वीडियो को उस फोटोग्राफर ने सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया जो कि फेसबुक के पॉलिसी के अंतर्गत नहीं आता है इस वजह से उसे अपनी ये वीडियो और फोटो हटानी पड़ी वहीं आपको बता दें कि ये फोटोज और वीडियो मदर्स डे 2017 के मौके पर फेसबुक पर पब्लिश किया गया था, जिसे 10 करोड़ से ज्यादा लोगों ने देखा था। वहीं इस तस्‍वीर को लेकर फोटोग्राफर निकोल का कहना था कि उनका मकसद इस खास पल की खूबसूरती दिखाने के साथ-साथ महिलाओं का डिलिवरी का डर हटाना है।

हालांकि इस पोस्‍ट को फेसबुक ने रहने नहीं दिया और पॉलिसी के खिलाफ मानते हुए ब्लॉक कर दिया। फेसबुक ने बिना नोटिस दिए फोटोग्राफर का ये वीडियो ब्लॉक कर दिया। दरअसल आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फेसबुक की कम्युनिटी स्टेंडर्ड के अनुसार महिलाओं के अंग का प्रदर्शन करना व न्यूडिटी दर्शाना नियम के खिलाफ है वहीं यह भी मेडिकल और हेल्थ सर्विस से जुड़े मामलों के लिए ऐसा किया जा सकता है। फोटोग्राफर ने कहा कि उनके फुटेज भी मेडिकल और हेल्थ के दायरे में आते हैं ऐसे में उन्होंने फेसबुक के किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया।

निकोल ने अपना अकाउंट ब्लॉक होने के बाद ब्लॉग के जरिए फेसबुक की इस करतूत का विरोध किया है। निकोल ने कहा की एक मां के बच्‍चे को जन्म देने से अहम पर कुछ भी नहीं हो सकता। फेसबुक की लाइफ और उसके स्टेंडर्ड असल जिंदगी से बढ़कर नहीं हो सकते हैं। वहीं इसके बाद निकोल का साथ देते हुए कई ब्‍लॉगर्स की इसका विरोध कर रहे हैं।

हैरानी की बात तो ये हैं कि आज के विकसित जमाने में भी फेसबुक के इस नियम कानून का डर कुछ समझ नहीं आता। नियम भी ऐसा की एक मां के भावना को भी फेसबुक ने शेयर करने से रोक दिया।