हाथ की रेखाओ से जाने पहली संतान बेटा होगा या बेटी

आपने अक्सर ये सुना और पढ़ा होगा कि व्यक्ति की किस्मत उसके हाथो की लकीरो में छिपी होती है. इसलिए तो बहुत से लोगो का ये मानना है कि इंसान को केवल वही मिलता है, जो उसके भाग्य में लिखा होता है. मगर इसके बावजूद भी हम तो यही कहेगे कि व्यक्ति के हाथो में खुद की किस्मत पलट देने का हुनर भी छिपा होता है. वैसे इसमें कोई शक नहीं कि व्यक्ति के हाथो की रेखाएं ही ये तय करती है, कि उसे जीवन में कितना सुख मिलेगा और कितना दुःख मिलेगा. बता दे कि हाथो की रेखाओ को पढ़ने की विद्या को हस्त रेखा शास्त्र कहा जाता है. जी हां दरअसल ये एक पुरानी कला है और इस कला के जरिये ही पहले के समय में ज्योतिष लोगो को उनके भविष्य के बारे में बताते थे.

गौरतलब है कि इंसान के हाथो में तीन रेखाएं सबसे खास होती है. जिनमे भाग्य रेखा, जीवन रेखा और हृदय रेखा ये तीनो रेखाएं मौजूद है. यही वजह है कि हर व्यक्ति इन तीनो रेखाओ के बारे में ज्यादा उत्तेजित होकर जानने की इच्छा रखता है. हालांकि आपकी रेखाओ में जो लिखा है वो सब कुछ सच हो ये जरुरी नहीं है. वो इसलिए क्यूकि हाथो की रेखाएं बदलने में देर नहीं लगती. बता दे कि हाथो में मौजूद जीवन रेखा से हमें ये पता चलता है कि हमारा जीवन भविष्य में कैसा होगा. मगर जब ये रेखाएं नीचे की कलाई की कुछ रेखाओ से जुड़ जाती है, तो इससे ये पता चलता है कि आपकी आयु कितनी लम्बी होगी.

इसके इलावा ऐसा माना जाता है कि कलाई का वो भाग जो रेखाओ को जोड़ता है, यदि वहां अधिक मांस हो और कलाई की हड्डी कम हो तो वो इंसान भाग्यशाली होता है. मगर यदि मांस कम हो और काफी लटका हुआ हो तो इसे अशुभ संकेत माना जाता है. गौरतलब है कि कलाई के इसी स्थान से हथेली की तरफ बढ़ते हुए तीन रेखाएं और होती है. जो उम्र, स्वास्थ्य और संतान के बारे में संकेत देती है. बता दे कि अंग्रेजी में इसे ब्रेसलेट लाइन भी कहा जाता है. इसके इलावा इन रेखाओ का तीन की संख्या में होना काफी महत्वपूर्ण माना जाता है, क्यूकि यदि इनकी संख्या तीन से ज्यादा या कम हो तो ये व्यक्ति के लिए खतरनाक भी हो सकती है.

जी हां जिनके हाथो में ये रेखाएं तीन की संख्या में मौजूद हो, वो लम्बे समय तक खुशहाल जीवन जीते है. वही अगर एक भी रेखा कम हो तो उम्र में कमी हो सकती है. इसके साथ ही अगर दो रेखाएं कम हो तो इससे व्यक्ति के जीवन पर जल्दी ही मौत का खतरा मंडराने लगता है. इसके इलावा ऐसा माना जाता है कि यदि व्यक्ति की हथेली पर दो या चार मणिबंध रेखाएं हो तो उसकी पहली संतान कन्या यानि लड़की ही होती है. वही अगर एक या तीन रेखाएं हो तो पहली संतान बेटा हो सकता है.

गौरतलब है कि यदि मणिबंध रेखा टूटी हुई या टेढ़ी हो तो ये आपके जीवन के कई राज खोलती है. जी हां ऐसा माना जाता है कि यदि मणिबंध रेखा टूटी हुई न हो, लेकिन वही जीवन रेखा भी अच्छी स्थिति में न हो तो इससे व्यक्ति का जीवन और भाग्य तो सफल रहता है, लेकिन वो कई तरह के रोगो से घिरा रहता है. इसके इलावा यदि किसी स्त्री के हाथ की मणिबंध रेखा हथेली की तरफ बढ़ते हुए आखिर में गोल आकार ले लेती है, तो ये एक खतरनाक संकेत है. इसका मतलब ये है कि महिला को प्रसव के दौरान काफी पीड़ा झेलनी पड़ेगी. हालांकि यदि यह रेखा सुन्दर और साफ़ हो तो इसका मतलब ये है कि वह स्त्री भाग्यशाली और हमेशा स्वस्थ रहेगी.

बरहलाल इस जानकारी को पढ़ने के बाद आप भी अपने हाथो की रेखाओ को देख कर ये जान सकते है कि आपका भविष्य आपके बारे में क्या कहता है.