video.. वैष्णो देवी मंदिर के रास्ते में हुआ कुछ ऐसा, जिसे देख कर कांप जाएगी आपकी रूह

यूँ तो आपने सोशल मीडिया पर बहुत से वीडियो देखे होंगे, लेकिन आज जो वीडियो हम आपको दिखाने जा रहे है. उसे देख कर आप हैरान रह जायेंगे. अब इसमें तो कोई शक नहीं कि वैष्णो देवी हिन्दुओ का सबसे धार्मिक और पवित्र स्थान माना जाता है. ऐसे में वैष्णो देवी के मंदिर में हर साल कई भक्त माता देवी के दर्शन करने के लिए आते है. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि वैष्णो देवी यानि माता वैष्णो जम्मू कश्मीर में स्थित शहर कटरा में स्थित है. जहाँ हर साल लाखो नहीं बल्कि करोड़ो लोग आते है. ऐसे में जो लोग यहाँ जा चुके है या इन रास्तो से गुजर चुके है, वो जानते है कि माता वैष्णो तक जाने के रास्ते कितने टेढ़े मेढ़े और कठिन है.

शायद इसलिए लोग कहते है कि देवी के दर्शन करना इतना भी आसान नहीं है. इसके लिए सच्ची श्रद्धा की भी जरूरत होती है. बरहलाल यहाँ के पहाड़ो पर चलना हर किसी के लिए आसान नहीं होता. गौरतलब है कि नौजवान लोग तो इस चढ़ाई को फिर भी चढ़ जाते है, लेकिन बुजुर्गो के लिए इसे चढ़ना काफी मुश्किल होता है. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आज हम वैष्णो देवी के मंदिर की बात इसलिए कर रहे है, क्यूकि यहाँ से कई दिल दहला देने वाली तस्वीरें सामने आयी है. यक़ीनन इन तस्वीरों को देख कर आप भी सन्न रह जायेंगे. अब ये तो सब को मालूम है कि जो लोग यहाँ चल नहीं पाते, उनके लिए खच्चर, घोड़ो, हेलीकाप्टर और पालकी आदि चीजों का प्रबंध किया जाता है, ताकि वो आसानी से चढ़ाई चढ़ सके.

जी हां कुछ लोग इन्ही चीजों की मदद से माता देवी के दर्शन करने के लिए उनके दरबार तक पहुँचते है. हालांकि यहाँ लोग सबसे ज्यादा खच्चर का ही इस्तेमाल करते है. ऐसे में शिवाय राय नाम के एक शख्स ने फेसबुक पर एक पोस्ट किया है. जिसमे उन्होंने बेजुबान खच्चरों की हालत के बारे में बताया है. जी हां शिवाय राय ये दिखाना चाहते है कि कैसे यहाँ बेजुबान जानवरो पर जुल्म होता है. अब जाहिर सी बात है कि ये बेजुबान जानवर ज्यादा से ज्यादा वजन उठा कर टेढ़े मेढ़े रास्तो से चलते है और इसके इलावा वो अपनी तकलीफ भी ब्यान नहीं कर सकते. ऐसे में वो बिना कुछ बोले और बिना रुके, बस चलते ही रहते है. ऐसे में उनकी इस स्थिति को शिवाय राय ने बखूबी सब के सामने पेश किया है.

दरअसल शिवाय राय का कहना है कि वो भी अपने रिश्तेदारों के साथ माता वैष्णो देवी के मंदिर गया था. जहाँ उसने देखा कि खच्चर वाले लगातार बेजुबान खच्चरों को पीट रहे थे. यहाँ तक कि उन पर सवारी बिठाने के लिए उन्हें जबरदस्ती पीट पीट कर तैयार कर रहे थे. हालांकि बेचारे बेजुबान जानवर कुछ कहने योग्य नहीं होते और ऐसे में वो इस मार को चुप चाप बर्दाश्त कर लेते है. वैसे आपको जान कर ताज्जुब होगा कि यहाँ तीन हजार खच्चर रजिस्टर्ड है. मगर गैर क़ानूनी तरीके से बारह हजार खच्चरों का इस्तेमाल किया जा रहा है.

यहाँ तक कि इन बेचारो की मदद करने के लिए यहाँ डॉक्टर भी मौजूद नहीं है. इसके इलावा शिवाय राय ने बताया कि उन्हें सबसे ज्यादा दुःख तब हुआ, जब उसने देखा कि एक खच्चर को लड़का जबरदस्ती उठा रहा था, जब कि उसका एक पैर टूटा हुआ था. जिसके चलते शिवाय राय उस लड़के पर भड़क गया और उसके बाद वो लड़का उस खच्चर को उसी हालत में छोड़ कर भाग गया. इसके साथ ही शिवाय राय ने जानवरो के डॉक्टर और बोर्ड के अधिकारियो से मिलने का फैसला किया. गौरतलब है कि शिवाय राय ने इस पूरी घटना को फेसबुक पर पोस्ट किया है.

इसके साथ ही उन्होंने बेजुबान जानवरो पर ऐसे अत्याचार न करने की अपील भी की है.