अमरनाथ घटना दोहराने की तैयारी कर रहे आतंकियों को सेना ने किया ढेर, सामने आया आतंकियों से संबन्धित बड़ा खुलासा

 

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में भारतीय सेना को आतंकियों के खिलाफ एक बार फिर बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए जिले के जंगली इलाके में शनिवार को आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में तीसरे आतंकवादी के मारे जाने के बाद शाम में खत्म हो गई। बताया जा रहा है कि तीसरा आतंकी त्राल तहसील के घने जंगल के इलाके में एक गुफा में छिप गया था, जिसे काफी देर कि मुठभेड़ के बाद मार गिराया गया।असल में भारतीय सेना ने जंगलों में करीब 40 फूट ऊपर छुपे आतंकियों को ढूंढ निकाला और लंबी मुठभेड़ के बाद तीनों आतंकियों को मार गिराया।

आतंकवादियों की पहचान की सही-सही जानकारी का पता नहीं चल पाया है लेकिन आशंका जताई जा रही है कि ये शायद जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी संगठन के हैं।’ आपको बताना चाहंगे कि अमरनाथ हमले के बाद यह दूसरी मौका है जब भारतीय सेना ने आतंकियों को मार गिराया है। लेकिन मारे गए इन आतंकियों को लेकर कई बड़े खुलासे हुए हैं जिनमें से एक खुलासा ऐसा है जो काफी चौकाने वाला है।बताया जा रहा है कि मारे गये तीन आतंकियों के नाम मुख़्तार, हसन और परवेज़ था और ऐसी जानकारी थी कि यह तीनों आतंकी एक बार फिर अमरनाथ हमले को दोहराने कि ताक में थे।

खबरों के अनुसार सेना को जानकारी मिली थी कि तीनों आतंकी त्राल के जंगलों में लगभग 40 फूट ऊंची गुफा में रह रहे थे और वहीं पर अमरनाथ यात्रियों पर एक बार फिर से हमले की तैयारी कर रहे थे जो शायद पिछली बार से भी खरत्नाक थी। मुठभेड़ के बाद स्थानीय पुलिस ने गुफा के अंदर जाकर देखा तो वो भी दंग रह गये थे, उनके अनुसार गुफा में बेड और प्राइवेसी के लिए परदे भी लगे थे। सेना ने बड़ी ही चालाकी से गुफा को घेरने के बाद सबसे पहले तो उनपर आंसू गैस छोड़ी और उन्हें वहीं ढेर कर दिया।

आपको बता दे की मारे गए अटयांकियों में सबसे ख़ास बात ये रही कि सेना ने जिन आतंकियों को मारा उसमें से 1 पाकिस्तान के थे और दो कश्मीर के रहने वाले बताए जा रहे है। खैर आतंकियों की बार बार हमले मे नाकामी मिलने से उनमे बौखलाहट बढ़ती जा रही है जबकि भारतीय सेना का मनोबल लगातार बाद रहा है जिसके नतीजा आतंकियों का शव हर हमले मे गिराया जा रहा है। आतंकियों के हर वार का भारतीय सेना द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब मिलने से पाकिस्तान की झल्लहट भी बढ़ती जा रही है।