बड़ी खबर.. राष्ट्रपति तो नहीं बन पाए आडवाणी, लेकिन मोदी-शाह की जोड़ी ने उन्हें सौंप दी इस पद की जिम्मेदारी !

अगर राजनीतिक गलियारों की बात करे तो बीजेपी पार्टी के मार्ग दर्शक कहे जाने वाले लाल कृष्ण आडवाणी को उस दौरान काफी ट्रोल किया गया था जब उनका चुनाव राष्ट्रपति पद के लिए नहीं हुआ था. बरहलाल तब से लेकर अब तक आडवाणी को लेकर कोई अहम खबर सामने नहीं आई थी, लेकिन अब आडवाणी को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. जी हां इस खबर के अनुसार बीजेपी ने आडवाणी को एक बेहद खास जिम्मेदारी सौंपी है. आपको बता दे कि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता यानि लालकृष्ण आडवाणी को फिर से लोकसभा की आचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया है.

वैसे आपकी जानकारी के बता दे कि ये समिति किसी के आचरण से जुडी शिकायतों की जांच करती है और ऐसे में एक बार फिर से लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन जी ने इसके लिए आडवाणी जी का नाम सामने रखा है. बरहलाल आडवाणी जी बीजेपी के लिए कितने खास है, ये तो सब जानते ही है. यही वजह है कि राष्ट्रपति चुनाव के दौरान भी यही अटकले लगाई जा रही थी कि आडवाणी जी को ही अगला राष्ट्रपति चुना जाएगा. मगर अफ़सोस कि ऐसा हो नहीं सका.

हालांकि इसके बावजूद भी आडवाणी जी शुरू से ही बीजेपी पार्टी के मार्गदर्शक रहे है. इसलिए इसमें कोई शक नहीं कि आडवाणी जी बीजेपी पार्टी द्वारा दी गई इस जिम्मेदारी को पूरी निष्ठां के साथ निभाएंगे. अब इसमें तो कोई दोराय नहीं कि बीजेपी का हर फैसला कितना सटीक और कितना सही होता है. ऐसे में बीजेपी के फैसले पर शक करना एकदम गलत होगा. इसके इलावा आडवाणी जी के अध्यक्ष बनने के बाद बीजेपी में सब सही ही होगा, इसमें भी कोई संदेह नहीं है.

बरहलाल आप आडवाणी जी के अध्यक्ष बनने के बारे में क्या सोचते है, हमें जरूर बताइएगा, क्यूकि आखिरकार राजनीती में जनता का ही सबसे अहम रोल होता है.