सनकी युवक ने लात मार एक शख्स को चलती ट्रेन से गिराया, बोला ‘मुझे तो आज मरना हैं, इसलिए तुझे भी मार रहा हूँ’

आप लोगो ने ऐसे कई किस्से सुने होंगे जिसमे युवक या युवती चलती ट्रेन से कूद आत्महत्या कर लेते हैं. लेकिन क्या आप ने कभी सुना हैं कि कोई युवक खुद ट्रेन से कूदने की बजाए किसी दुसरे अंजान शख्स को अपनी सनक के चलते ट्रेन से बाहर फेंक देता हैं. ऐसा ही एक हैरान कर देने वाला मामला मध्य प्रदेश के शहर भोपाल से आ रहा हैं. यहाँ अपनी माँ की अस्थियाँ विसर्जित कर आ रहे एक सिरफिरे युवक ने चलती ट्रेन में एक अंजान शख्स को लात मार बाहर गिरा दिया. लात मारने के पहले उसके शब्द थे ‘मुझे तो मरना हैं ही, इसलिए तुझे भी मार रहा हूँ’ आइये विस्तार से जाने पूरा मामला…

जानकरी के मुताबिक ये पूरी घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की हैं. यहाँ इलाहबाद के रहने वाले दो भाई सुमित सिंह और रितेश सिंह कामायनी एक्सप्रेस में सफ़र कर रहे थे. ये लोग इलाहबाद से अपने चचेरे भाई की शादी में शामिल होने के लिए भोपाल आ रहे थे. जैसे ही रास्ते में विदिशा स्टेशन आया तो ये दोनों भाई ट्रेन के गेट के नजदीक आकर खड़े हो गए ताकि भोपाल स्टेशन आने पर जल्दी से ट्रेन से उतर जाए. ट्रेन भोपाल से कुछ ही दुरी पर थी इसी दौरान अचानक ट्रेन की बाथरूम से एक युवक बाहर निकला और जोर से चिल्लाने लगा ‘मुझे तो आज मरना ही हैं, इसलिए तुझे मार रहा हूँ.’ इसके पहले कि कोई कुछ समझ पाता युवक रितेश के पास आया और उसे इतनी जोर से लात मारी कि वो चलती ट्रेन से बाहर जा गिरा. तेज़ रफ़्तार ट्रेन से गिरने की वजह से उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

युवक के लात मारते ही सुमित और अन्य लोगो ने युवक को पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया. जब पुलिस ने युवक से पूछताछ की तो पता चला कि उसका नाम रज्जू सिंह हैं जो कि सूखी सेवनिया इलाके का रहने वाला है. रज्जू एक चिकन शॉप चलाता हैं. कुछ दिनों पहले ही उसकी माँ की मौत हुई थी. इसलिए वो इलाहबाद में अपनी माँ की अस्थियाँ बहा के लौट रहा था. जब पुलिस ने उसे रितेश को ट्रेन से गिराने की वजह पूछी तो वो कुछ नहीं बता पाया. पुलिस का कहना हैं कि आरोपी रज्जू रितेश या सुमित को जानता भी नहीं हैं. उसने ये हत्या बस अपने सनकीपन के चलते की हैं. पुलिस के अनुसार उन्होंने अपने अपराधिक रिकॉर्ड में आज तक ऐसा अजीब मामला नहीं देखा हैं जहाँ मृतक और हत्यारा एक दुसरे को जानते तक नहीं थे. फिलहाल पुलिस ने रज्जू को हिरासत में लेकर उसके खिलाफ केस दर्ज कर दिया हैं.

ये काफी दुःख की बात हैं कि एक युवक की जान सिर्फ इसलिए चली गई क्योंकि गलत समय और गलत जगह पर उसकी मुलाकात एक सनकी आदमी से हो गई. रितेश की मौत के बाद उसके परिवार में शौक का माहोल हैं. अपने चचेरे भाई की शादी में खुशियाँ बाटने जा रहे इन दोनों भाई ने सोचा भी नहीं था कि रास्ते में ही उनकी खुशियाँ गम में बदल जाएगी.