इस लड़की ने फेसबुक पर “68 यौन शिकारी” प्रोफेसरों की लिस्ट जारी कर मचा दी है खलबली

आज जिस लड़की के बारे में हम बात करने वाले है, उसकी एक फेसबुक पोस्ट ने ही शिक्षा के क्षेत्र में खलबली मचा दी है. जी हां बता दे कि इस लड़की का नाम राया है और इसकी उम्र चौबीस साल है. गौरतलब है कि राया कैलिफोर्निया से लॉ की पढ़ाई कर रही है और उन्होंने एक पोस्ट के जरिये भारत के यौन शिकारियों की एक लिस्ट जारी की है. आपको जान कर ताज्जुब होगा कि इस लिस्ट में 68 प्रोफेसर के नाम लिखे गए है. इसके साथ ही इस लिस्ट में उनके काले कारनामो का जिक्र भी किया गया है. बता दे कि एक तरफ जहाँ कुछ लोग राया के इस काम की तारीफ कर रहे है, वही कुछ लोग उन्हें रेप करने की धमकी भी दे रहे है. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि राया पहले भी मर्दवाद की कड़ी आलोचना कर चुकी है.

वैसे इस पूरे मामले के बारे में आज हम आपको विस्तार से बताते है. दरअसल राया का ये दावा है कि इस लिस्ट में मुख्य रूप से महिलाओ ने उन लोगो के नाम लिए है, जिन्होंने उनके साथ यौन उत्पीड़न का दुष्कर्म किया था. हालाकि कुछ मामलो में पीड़ित महिलाओ ने नाम न छापने के लिए विनती की तो उन लोगो के नाम नहीं छापे गए. इसके साथ ही राया ने कई चैट्स, वाटस एप मैसेज, ईमेल, कॉल रिकॉर्डर्स आदि के स्क्रीनशॉट्स भी इकठ्ठा किए है और इससे ये साबित होता है कि वो महिलाएं सच कह रही है.

आपको जान कर हैरानी होगी कि राया की लिस्ट में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय, एफटीआईआई और मनिपाल यूनिवर्सिटी जैसे कई विश्वविद्यालयो के शिक्षकों के नाम शामिल है. बता दे कि राया ने ये लिस्ट तब जारी की थी जब हॉलीवुड एक्ट्रेस की तरफ से यौन उत्पीड़न की बात कही गई थी और सोशल मीडिया पर मी टू अभियान चलाया गया था. यहाँ तक कि इस हैशटैग के जरिये कई भारतीय महिलाओ ने भी अपने मन की बात शेयर की थी.

गौरतलब है कि यौन शिकारियों की लिस्ट जारी करने के बाद राया ने एक और पोस्ट जारी करके ये लिखा था, कि उन्हें नफरत से देखा जा रहा है और मारने की धमकी से लेकर रेप करने की धमकी भी दी जा रही है. ऐसे में उन्होंने अपने दूसरे फोल्डर की तरफ देखना बंद कर दिया. इसके साथ ही उन्होंने स्वर्ण फेमिनिस्ट और वामपंथियों को भी धन्यवाद कहा है. हालांकि अभी भी बहुत सी महिला पीड़िताएं शांत है यानि चुप है. वैसे राया का कहना है कि उन्होंने कई बार उत्पीड़न का सामना किया है. बता दे कि उन्होंने न केवल शिक्षकों की लिस्ट जारी की है, बल्कि फेसबुक पोस्ट पर कई और बातें भी लिखी है. गौरतलब है कि राया सरकार के 5589 फॉलोवर्स है और ऐसे में उनके पोस्ट पर सैंकड़ो लाइक्स और शेयर भी आते है.

बरहलाल अगर आपको भी लगता है कि राया ने जो किया वो सही था, तो हमें अपनी राय जरूर दे.