जब ट्रक पलटने के बाद सड़क पर ही बिखर गए 500 और 2000 के नोट, लोगो ने जम कर लूटे रूपये

कहते है कि भगवान् जब देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है और आज जो खबर हम आपको बताने वाले है उसके बारे में जान कर आपको भी ये कहावत सच लगने लगेगी. बता दे कि महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक बेहद ही हैरान कर देने वाली घटना घटी है. जी हां आपको जान कर ताज्जुब होगा कि यहाँ हंगामा तो तब मच गया जब लोगो को ये पता चला कि इस शहर के एमआईडीसी इलाके में भर भर कर पांच सौ और दो हजार के नोट बिखरी पड़े है. अब जाहिर सी बात है कि पैसो की बात सुन कर किसी के भी मन में लालच आ जाएगा. ऐसे में वहां के लोगो ने भी जम कर इन पैसो को लूट लिया.

अब आप सोच रहे होंगे कि भला ऐसा कैसे हो सकता है. मगर हम तो यही कहेगे कि जनाब ये सुनने में भले ही अजीब लग रहा हो, लेकिन ये सच है. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि पैसो की खबर मिलते ही लोग इन पैसो को लूटने के लिए इस इलाके की तरफ दौड़ लगाने लगे. केवल इतना ही नहीं इसके इलावा सड़क पर जाम भी लग गया था. मगर इसके बावजूद भी लोग अपनी गाड़ियां छोड़ कर इस इलाके की तरफ भागने लगे. बता दे कि इस दौरान किसी के हाथ में थैला था तो किसी के हाथ में पॉलीथिन था. वही जब पुलिस को इस खबर की सूचना मिली तो पुलिस भी वहां इस मामले को संभालने के लिए पहुँच गई.

हालांकि जब इन नोटों को करीब से देखा गया तो पता चला कि ये सभी नोट तो नकली थे. यानि उन सभी लोगो की मेहनत पर एक ही बार में पानी फिर गया. आपको जान कर ताज्जुब होगा कि किसी ने रात को ही वहां नकली नोट फेंक कर लोगो के मजे लेने की कोशिश की थी और वो इसमें कामयाब भी हो गया. हालांकि जब लोगो को पता चला कि वो सभी नोट नकली है, तो वो सब लोग काफी उदास हो गए थे और यहाँ तक कि अपना मुँह छिपा कर भाग रहे थे. फ़िलहाल पुलिस इस पूरे मामले की जाँच कर रही है और उन नकली नोटों को वहां फेंकने की सच्चाई को लेकर भी छानबीन कर रही है.

अब वजह चाहे जो भी हो और ये नोट नकली ही क्यों न हो, लेकिन इस घटना से ये तो साबित हो गया, कि लोगो को किसी भी चीज से ज्यादा पैसो से प्यार है.  जी हां तभी तो उन्होंने बिना ये सोचे बिना ये जाने कि आखिर ये नोट यहाँ कैसे आये और इसे यहाँ किसने गिराया, वहां मौजूद हर इंसान पैसे लूटने में लग गया. अब इसे लालच नहीं कहेगे तो और क्या कहेगे. हालांकि लोगो के हाथ कुछ भी नहीं लगा, लेकिन इससे लोगो की असलियत तो सामने आ ही गई.

वैसे हम नहीं जानते कि लोगो के साथ ये मजाक किसने किया, लेकिन जिसने भी लोगो के साथ ये मजाक किया, उसका मकसद केवल आज के समाज का असली चेहरा दिखाना था और वो उसने कर भी दिखाया. वैसे इस मजाक के दौरान किसी को चोट भी लग सकती थी, लेकिन खुशकिस्मती से सब लोग सुरक्षित है.

बरहलाल हम तो यही कहेगे कि आगे से अगर आपके साथ भी ऐसी कोई घटना हो तो पैसे लूटने की बजाय आप थोड़ी सावधानी बरते और ऐसी हरकत न करे, जिससे आपको बाद में शर्मिंदा होना पड़े.