दहेज़ के लिए रोज परेशान करते थे ससुराल वाले, दबाव में आकर बहू ने उठाया ये शर्मनाक कदम

जहाँ एक तरफ हमारा देश आधुनिकता की और बढ़ता जा रहा हैं तो वहीँ दूसरी और आज भी देश की कई महिलाएं दहेज़ प्रताड़ना जैसी कुप्रथा के चलते परेशान हैं. इस दहेज़ के दबाव के कारण कई हिंसा, अपराध और यहाँ तक कि मौते तक हो जाती हैं. दहेज़ प्रताड़ना से जुड़ा ऐसा ही एक अनोखा मामला भोपाल शहर से आ रहा हैं. यहाँ ससुराल वालो के दहेज़ की मांग पूरी करने के चक्कर में एक बहू अपराध की दुनियां में जाने को मजबूर हो गई. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…

ससुराल की दहेज़ की मांग से परेशान थी बहू

दरअसल भोपाल निवासी अली शीबा को शादी के बाद भी ससुराल वालो की दहेज़ की मांग पूरी करने पर मजबूर होना पड़ रहा था. उसके ससुराल वालो ने दहेज़ में मोटरसाइकिल मांगी थी. उनकी डिमांड पूरी करने के चक्कर में उसने अपने गहने गिरवी रख दिए थे. वो काफी दिनों से अपने गिरवी रखे गहनों को छुड़ाने की कोशिश कर रही थी. एक दिन वो गहनों की दूकान चलाने वाले सन्नी साहू के यहाँ अपनी चांदी की पायल गिरवी रखने गई थी. सन्नी ने पायल के बदले शीबा को 1 हजार रुपए दे दिए. यहाँ बातो ही बातो में शीबा ने सन्नी से कहा कि वो पहले कुणाल मोटर्स में नौकरी करती थी लेकिन सैलरी टाइम पर नहीं मिलने की वजह से छोड़ दी. इसके बाद शीबा ने दूकान संचालक से पूछा कि आपके यहाँ काम हैं क्या? इस पर संचालक सन्नी ने कहा अपना आधार कार्ड लेकर आजाओ काम मिल जाएगा.

पैसो के लिए बनी गहना चोर

अगले दिन 11 जनवरी को शीबा दूकान पर आधार कार्ड लेकर गई जिसके बाद सन्नी ने उसे काम पर रख लिया. हालाँकि काम के दुसरे दिन ही शीबा ने दूकान से दो हार चुरा लिए. इसके बाद जब दूकानदार ने शाम को गहनों की गिनती करी तो उसमे दो हर कम निकले. इसके बाद जब दुबारा गिनती की गई तो शीबा ने दो हार और गायब कर दिए.

सीसीटीवी कैमरा से खुली पोल

चोरी के अगले दिन जब दूकानदार सन्नी ने सीसीटीवी फूटेज देखा तो उसमे शीबा गहने के डब्बे से चोरी करते हुए दिखी. सन्नी ने शीबा को फोन कर दूकान पर आने के लिए कहा लेकिन शीबा ने कुछ काम से शहर से बाहर होने की बात बताई. इसके बाद सन्नी ने कोतवाली थाना क्षेत्र में शीबा के खिलाफ चोरी की रिपोर्ट दर्ज करा दी. पुलिस ने सर्च टीम के जरिए शीबा का पता लगाया और उसे गिरफ्तार कर चोरी किए ढाई लाख के गहने बरमाद कर लिए.

दहेज़ की मांग पूरी करने के लिए की थी चोरी

जब पुलिस ने महिला से पूछताछ करी तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया. महिला ने पुलिस को बताया कि उसने अपने ससुराल वालो की दहेज़ की मांग (मोटरसाइकिल) के लिए अपने गहने गिरवी रख दिए थे. उन्ही गहनों को छुड़वाने के लिए शीबा ने चोरी का सहारा लिया था.

ये काफी शर्म की बात हैं कि देश में आज भी लोग दहेज़ के लिए अपनी लक्ष्मी सामान बहू को परेशान करते हैं. इस दहेज़  प्रताड़ना के चलते ना जाने कितनी जिंदगियां रोज बर्बाद होती हैं.